Baby Yoga: शिशुओं के बेहतर विकास में सहायक योग

योग एक ऐसा माध्यम होता है जो शरीर को सक्षम बनाता है जिसे हर उम्र के लोग कर सकते है। बच्चों से लेकर बूढ़े तक इसका अभ्यास कर सकते है क्योंकि यह हर किसी के लिए बना है। इसका अभ्यास करने से रोगों से छुटकारा तो मिलता ही है साथ ही शरीर भी तंदरुस्त रहता है।

परन्तु क्या आपको पता है की आप अपने शिशुओं को भी योग का अभ्यास करवा सकती है? जी हाँ योग शिशुओं के विकास में भी मदद करता है और उन्हें स्वस्थ रखता है।

शिशुओं के लिए बेबी योगा बनाया गया है जिसे करने से पेरेंट्स और शिशु के रिश्ते को और मज़बूती मिलती है साथ ही उनकी बॉन्डिंग भी बढ़ती है।

बेबी योगा के द्वारा शिशु की पूरी तरह से मसाज हो जाती है इसके लिए जानते है Baby Yoga के बारे में विस्तार से।

Baby Yoga: इसे कैसे करे और इससे होने वाले फायदे

Baby Yoga in Hindi

शिशु के प्रारंभिक दिनों लिए

  • यदि शिशु लगभग 1 महीने से लेकर 4 महीने तक का है तो उस समय वह अपने शरीर को बहुत कम समझ पाता है। किस तरह शरीर को हिलना है उसे बस उतना ही पता होता है।

शिशु को मॉर्निंग स्ट्रेच दें

  • अपने शिशु को पीठ के बल पर लेटा दें। इसके बाद उसकी भुजाओं को फ़ैलाने की कोशिश करे। साथ ही उसके पैरो को भी सामने की तरफ फैला दे।
  • एक या दो सांसो के लिए रुके उसके बाद इस प्रक्रिया को बंद कर दे।

वाईन्ड रिलीविंग पोज़

  • अपने शिशु को पीठ के बल पर लेटा दे।
  • इसके बाद अपने शिशु के पैरो के निचले भाग को धीरे धीरे दबाये।
  • शिशु के घुटनो को छाती की तरफ ले जाये।
  • कुछ समय के लिए अपने शिशु को इसे समझने दे।
  • कुछ सांसो के लिए उसी स्थिति में रुके और फिर अपने शिशु को छोड़े दे।
  • इसके बाद इसे समाप्त कर सकते है।

नी टू चेस्ट पोज़

  • अपने शिशु को पीठ के बल पर लेटा दे।
  • इसके बाद शिशु के दोनों घुटनो को छाती की तरफ मोड़ने की जगह एक एक करके घुटनो को मोड़े ।
  • एक या दो सांसो के लिए रुके उसके बाद इस प्रक्रिया को छोड़ दे।

पांच महीने से बड़े शिशु के लिए

  • पांच महीने से बड़े शिशु अपने शरीर को थोड़ा कण्ट्रोल करना सीख जाते है।
  • वह अपने सिर को होल्ड कर सकते है। इस अवस्था में कोबरा पोज़ को शिशु को आसानी से कराया जा सकता है।

ब्रिज पोज़

  • शिशु प्राकृतिक रूप से ब्रिज के समान पोज़ बनाने लगते है। तो इसके लिए आप उन्हें उत्साहित कर सकते है।
  • अच्छा होगा की आप भी इस पोज़ को करे आपको देख कर बच्चे पोज़ को जल्द ही सीख जाते है।

बेबी योग के फायदे

  • बेबी योग अधिक और बेहतर नींद को बढ़ावा देता है।
  • इसे करने से बच्चों को ज्यादा शारीरिक गतिविधि प्राप्त होती है।
  • इसे करने से शिशुओं की पाचन क्रिया अच्छी रहती है।
  • यह मस्तिष्क और तंत्रिका तंत्र के विकास में मदद करता है।
  • बेबी योगा, माता-पिता और बच्चे को सक्रिय तरीकों से एक-दूसरे को जानने के लिए मदद करता है।

Related Post

सिर्फ बड़े ही नहीं बच्चो के लिए भी फायदेमंद है योग... बदलती जीवन शैली और गलत खान पान का असर हमारे शरीर पर बढ़ता जा रहा है। आजकल हर दूसरे व्यक्ति को कुछ ना कुछ समस्या रहती है। पहले केवल बड़े ही इस बिगडती हुई...
Anti Aging Yoga Postures for 15 Years Younger: इन ... हर कोई हमेशा खूबसूरत दिखना चाहता है लेकिन अफ़सोस ऐसा होता नहीं है । चेहरे की त्वचा उम्र का ये राज़ आखिर खोल ही देती है। इंसान मन से कितना भी जवां हो पर ...
Yoga for Diabetics Type 2: डायबिटीज के मरीजों के ल... डायबिटीज जिसे मधुमेह भी कहा जाता है, यह एक बहुत ही आम सी बीमारी है जो कई लोगो को हो जाती है। अगर आप भी इस प्रकार की बीमारी से ग्रसित है तो आपको भी योग...
Yoga for Intelligence: बच्चों को बुद्धिमान बनाने व... हर माता पिता चाहते है कि उनके बच्चे स्वस्थ और बुद्धिमान रहे। हर तरह के कॉम्पीटीशन में अव्वल आये। परन्तु कई कारणों से पेरेंट्स का यह सपना सपना रह रहा ज...
लकवे के लिए योग – शारीरिक गतिविधियों में सुधार लाय... लकवा याने की Paralysis एक गंभीर बीमारी है| इसे कई लोग पक्षाघात रोग के नाम से भी जानते है| इसमें शरीर का कोई विशेष हिस्सा या फिर कहे की आधा शरीर निष्क्...
Benefits of Hot Yoga: जाने हॉट योगा करने के फायदों... हॉट योगा आपको फिट रखने में काफी फ़ायदेमंद होती है साथ ही यह आपकी बॉडी को एक परफेक्ट शेप में लाती है। हॉट योग 90 मिनट तक का एक कम्पलीट सेशन होता है जिस...

You may also like...