शरीर का लचीलापन बढ़ाने में सहायक है बालासन, जानिए अन्य लाभ

योग की महत्ता को देखते हुए इसे करने वाले लोगो की संख्या में काफी इजाफा हुआ है| अनगिनत लोग इसे करते हुए इसका लाभ उठा रहे है| योग से इतने फायदे मिलने के बावजूद भी कुछ लोग ऐसे भी है जो इसे नहीं करते है, कारण की उन्हें लगता है योग उनके बस की बात नहीं है, उन्हें कठिन व्यायाम नहीं करते आता है|

यदि आप भी कुछ ऐसा ही सोचते है तो हम आपको बतादे की योग में ऐसे भी आसनों का समावेश है जो करने में अत्यंत सरल है किन्तु उसके लाभ बहुत खास है| योगासनों में एक आसन है बालासन, इस आसन को हर कोई बड़ी ही सरलता के साथ कर सकता है| इस आसन को करने से स्वास्थ्य में अच्छा सुधार आता है|

आजकल के इस समय में अधिकतर लोग यदि किसी चीज़ से सबसे ज्यादा परेशान है तो वो है तनाव और मोटापा| बालसन को करने से इन दोनों में फायदा मिलता है| आइये आज के लेख में विस्तार से जाने की बालासन क्या है और इसे करने की विधि क्या है, पढ़िए Balasana Yoga in Hindi.

Balasana Yoga in Hindi – बालासन की विधि, लाभ, सावधानिया

Balasana Yoga in Hindi.

बालासन में आपके शरीर की मुद्रा माँ के कोंख में होने वाले बच्चे की तरह होती है, इसलिए ही इसे बालासन नाम दिया गया है| कहा जाता है की मां की कोख से अच्‍छी आराम दिलाने वाली और कोई जगह नहीं है, इसलिए जब भी कोई व्यक्ति बालासन का अभ्यास करता है तो उसे बेहद ही शांति एवं सुकून मिलता है| इसे Child Pose भी कहते है| आइये देखते है बालासन करने की विधि:-

Balasana Steps in Hindi: बालासन कैसे करे

बालासन करने के लिए किसी हवादार और खुले स्थान पर बैठ जाये| आपको वज्रासन की स्तिथि अर्थात पलथी लगाकर अपनी ऐड़ियों पर बैठना है| इस स्तिथि में अपने शरीर के ऊपरी भाग को जंघाओं पर टिकाएं| इसके बाद शरीर को आगे की और झुखाकर जैसे की चित्र में दिखाया गया है, सिर को ज़मीन से लगाएं|

अपने हाथों को सिर से लगाते हुए आगे की ओर सीधा रखें तथा हथेलियां जमीन को छूती हुई होनी चाहिए| अपनी सांसो को सामान्य रखे, बस इसी अवस्था को बालसन कहा जाता है| इस अवस्था में आप अपनी क्षमता अनुसार 15 सेकेण्ड से 2 मिनट तक रह सकते है|

आप यह भी पढ़ सकते है:- नटराजासन – मोटापा घटाने और तनाव दूर करने में सहायक

बालासन में सावधानी

  • यदि आपको बालासन करते वक्त माथे को फर्श पर रखने में असुविधा महसूस हो रही है तो आप अपने सर के निचे तकिया रख सकते है|
  • जिन लोगो को दस्त की समस्या या फिर घुटनों में दर्द आदि हो उन्हें इस आसन का अभ्यास नहीं करना चाहिए|
  • उच्च रक्तचाप की समस्या से ग्रसित को भी इस आसन का अभ्यास करना मना होता है|

Child Pose Benefits Hindi: बालासन के लाभ

  1. यह आसन आपके कंधो तथा पीठ का तनाव ख़तम करता है|
  2. शरीर की अकडन दूर करने में यह आसन बहुत फायदेमंद है|
  3. Child’s Pose Yoga करने से शरीर में लचीलापन आता है|
  4. इससे शरीर के कई दर्द जैसे जोड़ो का दर्द, कंधो का दर्द, पीठ दर्द आदि में आराम मिलता है|
  5. यह आसन महिलाओ के लिए भी बहुत फायदेमंद है, इससे मासिक धर्म में होने वाले दर्द से निजात मिलती है|
  6. इसे करते वक्त  खून का बहाव सिर की तरफ अच्छा होता है, इसलिए इसे करने से शांति मिलती है|
  7. जो लोग इस आसन का अभ्यास रोजाना करते है उनके शरीर को बहुत अधिक आराम मिलता हैं|

यदि आपको कार्य करते वक्त अत्यधिक थकान और आलस महसूस होता है तो इस आसन को करना आपके लिए बेहद ही फायदेमंद है|

ऊपर आपने जाना Balasana Yoga in Hindi. इस आसन को किसी भी आसन के बाद किया जा सकता है| इस आसन को करके आप भी इसके लाभ पा सकते है, किन्तु इसकी सावधानियो को देखते हुए ही इस आसन का अभ्यास करना चाहिए|

You may also like...