गोमुखासन: मधुमेह और स्त्री रोग में फायदेमंद योग

comment 0

अब आप सभी इस बात से तो भलीभांति परिचित हो चुके होंगे की योग स्वास्थ्य के लिए कितना फायदेमंद है| यह आपको कई तरह की बीमारियों से निजात दिलाने में मदद करता है| कुछ योग आसन तो आपके लिए इतने फायदेमंद होते है की गंभीर से गंभीर बीमारियों भी दूर कर देते है|

जो लोग नियमित रूप से योग का अभ्यास करते है, वे कई रोग से निजात पाकर स्वस्थ जीवन जी सकते है| अलग अलग योग आसन के अलग अलग फायदे है| आज हम आपको गोमुखासन के बारे में बता रहे है|

यह आसन मधुमेह के रोगियों के लिए बेहद फायदेमंद है। इसके अतिरिक्त यह गठीया, कब्ज तथा हर्निया में भी लाभदायक है। आइये आज के लेख में विस्तार से जानते है Gomukhasana Yoga in Hindi.

Gomukhasana Yoga in Hindi: गोमुखासन की विधि, लाभ और सावधानिया  

Gomukhasana Yoga in Hindi

इस आसन का अभ्यास करते वक्त व्यक्ति की आकृति गाय के मुख के समान बनती है इसीलिए ही इस आसन को गोमुखासन कहा जाता है| अंग्रेजी में इसे Cow Face Pose कहा जाता है|

Cow Face Pose Steps: इसे करने की विधि जानिए

  • एक अच्छी जगह चुनकर वह आसन बिछा ले और सुखासन की स्तिथि में बैठ जाये|
  • इसके पश्चात अपने बाएं पैर के एड़ी को दाहिने नितंब के पास रखिए|
  • इसके बाद दाहिने पैर को बायीं जांघ के ऊपर रखिए।
  • आपको इसे उस प्रकार रखना है की दोनों घुटने एक-दूसरे के ऊपर आये।
  • यदि आप समझ नहीं पा रहे है तो बताये गए चित्र की मदद ले सकते है|
  • इसके बाद बाएं हाथ को पीठ के पीछे ले जाइए, साथ ही दाहिने हाथ को भी दाहिने कंधे पर से पीछे ले जाइए।
  • दोनों हाथो को एक दुसरे से जोड़कर रखे, लेकिन ध्यान रखें कि इस आसन को करते समय आपकी गर्दन सीधी हो|
  • आँखे बंद रखे और इस पोस में तीस सेकंड से एक मिनट तक बने रहे| समय का चुनाव आप अपनी क्षमता के अनुसार करे|
  • इस आसन को दो से तीन बार दोहराए|
  • एक ओर से करने के पश्चात दूसरी ओर से भी इसी प्रकार करें।
आप यह भी पढ़ सकते है:- वरुण मुद्रा – आपके शरीर में जल तत्व को संतुलित करे

Gomukhasana Benefits in Hindi: गोमुखासन के लाभ

  1. गोमुखासन का अभ्यास करने से हाथ तथा पैर की मांसपेशियां चुस्त तथा मजबूत होती है|
  2. यह आसन तनाव को भी दूर करता है, मानसिक शनि प्राप्त करने के लिए यह बहुत ही अच्छा आसन है|
  3. यह आसन आपकी छाती को पुष्ट बनाता है साथ ही साथ इससे फेफड़े भी मजबूत बनते है, इससे कई श्वास सम्बन्धी रोगों में फायदा मिलता है|
  4. लैंगिक विकारों से निजात दिलाने में भी यह आसन बहुत ही कारगर सिद्ध होता है।
  5. यदि आपके कंधे और गर्दन में अकडन रहती है, तो आपको इस आसन का अभ्यास जरुर करना चाहिए|
  6. यह कमर दर्द तथा पीठ दर्द आदि में फायदेमंद है|
  7. मधुमेह तथा स्त्री रोगों में तो इस आसन को करने से बहुत ही फायदा मिलता है|
  8. इसके अलावा यह कई रोगों में फायदेमंद है जैसे गठिया, बवासीर, अपचन आदि|

ऊपर आपने जाना Gomukhasana Yoga in Hindi. जिन भी लोगों को हाथ, पैर तथा रीढ़ की हड्डी में किसी भी तरह की समस्या है जैसे कोई चोट या फिर कोई रोग उन लोगो को यह आसन नहीं करना चाहिए। हो सकता है की शुरुवात में आपके हाथ पीछे की और नहीं बंध रहे हो तो जबरजस्ती न करे, रोजाना इसका अभ्यास जारी रखे, धीरे धीरे आप इसे करना सिख जायेंगे| इसे योग गुरु के निर्देशन में ही करे|

 

Related Post