शरीर को सुडौल बनाने में मददगार है हलासन का अभ्यास, जानिए विधि

हर कोई एक सुडौल शरीर चाहता है| क्योकि आजकल के ज़माने में अच्छा दिखना हर फ़ील्ड की डिमांड बन चुकी है| अब ना केवल मीडिया में बल्कि अन्य जॉब्स में भी पर्सनालिटी को तवज्जो देने लगे है|

एक अच्छी पर्सनालिटी ना केवल आपके व्यक्तित्व को निखारती है बल्कि यह आपके शरीर को भी स्वस्थ रखने का एक अच्छा तरीका है| क्योकि यदि आपके शरीर पर मांस जमा हुआ है तो इससे आप मोटापे का शिकार हो जाते है|

और मोटापा एक इकलोती बिमारी नहीं है यह कई बिमारी को आमंत्रित करती है| एक स्वस्थ जिंदगी के लिए शरीर पर अनाव्यशक चर्बी नहीं होना चाहिए| शरीर से चर्बी को हटाने के लिए और उसे छरहरा बनाने के कई तरीके मौजूद है| जिसमे से एक प्रभावी तरीका योग का अभ्यास है|

जो लोग हलासन योग का अभ्यास करते है वे मोटे नहीं होते और उनका शरीर सुडौल रहता है| इसे पलो पोस के नाम से भी जाना जाता है| आइये विस्तार से जानते है Halasana in Hindi.

Halasana in Hindi: हलासन योग की विस्तारित जानकारी

Halasana in Hindi

हलासन करने की विधि:

  • Halasana Yoga का अभ्यास करने के लिए साफ सुथरी जगह का चुनाव करे और वहा चटाई बिछा ले|
  • इसके पश्चात जमीन पर पीठ के बल लेट जाइए| आपके दोनों हाथ कमर के सामानांतर हो, हथेलियां जमीन पर और दोनों पैर एक दुसरे से मिले होना चाहिए|
  • अपने चेहरे को आसमान की तरफ रखे और अपनी आखें मूंद ले|
  • इसके बाद आपको अपने पैरो को ऊपर उठाना है| इसके लिए सांस लेते हुए पैर को ऊपर की और उठाये| इस क्रिया को करते वक्त अपने पेट को अन्दर की और सिकोड़ें|
  • दोनों पैरों को सिर के पीछे लगाने कि कोशिश करें जैसा कि चित्र में बना हुआ है।
  • अपने पैरो को उठाते हुए इसे सर के पीछे ले जाये, पैरो के साथ पीठ और कमर को भी मोड़े| ऐसा करने के लिए अपने हाथो का सहारा ले|
  • थोड़ी देर उसी अवस्था में रुके रहे जैसा की चित्र में दिखाया गया है, फिर वापिस से सामान्य स्तिथि में आ जाये|
आप यह भी पढ़ सकते है:- शारीरिक दर्द और मासिक धर्म से जुडी कई समस्या में मददगार है पासासन

Halasana Benefits in Hindi: जानिए इसके लाभ

  1. इस आसन को करने से रीढ़ की हड्डी लचीली होती है। यह पीठ दर्द से निजात दिलाता है|
  2. इसका अभ्यास गले सम्बन्धी रोगों को दूर करने में भी फायदेमंद है।
  3. यह आसन को करते समय आपके हृदय को खून की पूर्ति होती है।
  4. यह पेट की चर्बी को कम करने के लिए प्रभावी आसन है| इसका अभ्यास करके आप पतली कमर जरूर पा सकती है|
  5. यदि आप सुन्दर और कांतिमय चेहरा चाहते है तो आपको हलासन का नियमित अभ्यास जरूर करना चाहिए|
  6. इसे करने से आपकी मानसिक क्षमता में वृद्धि होती है इसलिए मस्तिष्क सम्बन्धी कार्य करने वाले लोगो को इसे जरूर करना चाहिए|
  7. हलासन उन स्त्रियों के लिए तो बहुत ही लाभदायक है जिनका गर्भाशय स्थिर नहीं रहता है|
  8. इसका नियमित अभ्यास करने से शरीर के भीतरी अंगों की मालिश होती है| मोटापे को दूर करने में यह सहायक है|

Halasana Precautions: हलासन में सावधानिया

  • मासिक धर्म के दिनों में इस आसन का अभ्यास नहीं करना चाहिए|
  • यदि आपको रक्तचाप सम्बन्धी समस्या है तो इस आसन का अभ्यास नहीं करना चाहिए|
  • जब भी आप इस आसन को करे तो अपने पैरो को ऊपर या निचे ले जाने का कार्य आराम से करे| इसमें आपके पैरो को झटका नहीं लगना चाहिए|
  • हो सकता है शुरुवात में इस आसन को करते वक्त आपको कठिनाई महसूस हो, तो जबरदस्ती इसे करने की कोशिश ना करे|
  • यदि आपको शरीर में किसी भी तरह का दर्द जैसे की कमर दर्द, गर्दन दर्द या फिर पीठ में तकलीफ हो तो चिकित्सक की सलाह लिए बिना इस आसन को ना करे|

ऊपर आपने जाना Halasana in Hindi. यदि आप भी छरहरा शरीर चाहते है तो हलासन का अभ्यास जरुर करे| किन्तु इसे करने से पहले इसकी सावधानियो को गौर जरुर करे|

Related Post

Prasarita Padottanasana: रीढ़ की हड्डी को सीधा एवं ... प्रसारिता पादोत्तनासन को अंग्रेजी भाषा में Wide Legged Forward Bend कहा जाता है। प्रसारिता पादोत्तनासन तीन शब्दों से मिलकर बना है जिसमे प्रसारित का अर...
स्टैंडिंग बेकबेंड पोस – आपके दिल और मूड दोनों का ख... आप अपने दिन की शुरुवात कैसे करते है? योग करने वाले अधिकतर लोग अपने दिन की शुरुवात आरामदायक स्तिथि में बैठकर किये जाने वाले आसनों जैसे बालासन आदि से कर...
Karnapidasana: कान और पेट के रोगों को दूर करने में... कर्णपीड़ासन को इयर प्रेशर पोज़ और नी टु इयर पोज़ भी कहा जाता है। कर्णपीड़ासन को कान के दबाव की मुद्रा के रूप में भी जाना जाता है। यह योग मुद्रा हलासन के...
Mahamudra Health Benefits – पेट संबंधी रोगों... संस्कृत में, महा यानि महान और मुद्रा का अर्थ है एक भावI महा मुद्रा मानव चेतना को उच्च स्तर तक लाने और स्वास्थ्य में सुधार लाने के लिए एक तकनीक है। ...
Bhujapidasana: कलाइयों और भुजाओं को ताकतवर बनाये, ... भुजपीड़ासन नाम संस्कृत शब्द से आता है| "भुजपीड़ासन" तीन शब्दों के मेल से बना है भुज+पीड़ा+ आसन| भुज का अर्थ होता है बांह या कंधे, पीडा का अर्थ होता है दब...
आकर्षक फिगर और फिटनेस को बरकरार रखे पावर योगा... हमेशा टीवी में दिखने वाले एक्ट्रेसेस की अट्रेक्टिव बॉडी देखकर लड़कियों को लगता है की काश उनका फिगर भी अच्छा होता| पर क्या आप जानते है बॉलीवुड की यह मशह...

You may also like...