Japa Meditation: मानसिक,शारीरिक और आध्यात्मिक स्वास्थ्य की कुंजी

जब कभी आप कार्यस्थल की समस्याओं, पारिवारिक जिम्मेदारी, या जीवन में किसी भी आगामी बाधा में फंस जाते है, तो ऐसे में जीवन के सुख का अनुभव हम नहीं ले पाते है|

ऐसे में ध्यान ही चिंता से मुक्ति दिलाकर हमें सुखदायक राहत प्रदान करता है| मन को केंद्रित करने, आंतरिक आत्म और युद्ध के तनाव से जुड़ने के लिए ध्यान एक शक्तिशाली और प्रभावी तरीका माना जाता है।

बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक सभी ने जीवन के सभी क्षेत्रों के अरबों समस्याओ, नकारात्मकताओं और अवसाद से राहत के लिए ध्यान को किया है। ध्यान के कई प्रकार है आप इसमें से कुछ भी चुन सकते है, हमारी सलाह है की आप एक बार जप ध्यान को अपनाकर देखे|

Japa Meditation जिसे मंत्र ध्यान भी कहा जाता है| यह एक ऐसी तकनीक है ,जिसमे मंत्रो और जाप की ऊर्जा की मदद मिलती है जिससे आप शांत मन से अपने विचारो पर फोकस कर सकते है| यह ध्यान किसी भी धर्म का पालन करने वाले लोगों तक ही सीमित नहीं है। हालांकि, विभिन्न धार्मिक श्रद्धालुओं के लोग ध्यान के इस रूप को अभ्यास करने के लिए अपने स्वयं के मंत्र चुनते हैं।

Japa Meditation: जप ध्यान कैसे करे और इसके फायदे

Japa Meditation

कैसे करे

आप दिन के किसी भी समय जप ध्यान का अभ्यास कर सकते हैं हालांकि सुबह का समय एक आदर्श समय माना जाता है। इसका दो तरीकों से अभ्यास किया जा सकता है:-

सुनाई देने योग्य जप ध्यान

इसे वैखरी जप भी कहा जाता है ,यह ध्यान का ऐसा रूप है जिसमें ताल या मंत्र या भजन का पाठ शामिल है। कुछ ध्यानी मंत्रो को गुनगुनाते है।

मौन जप ध्यान

इसे म मानसिक जप भी कहा जाता है,  यह एक ऐसी प्रक्रिया है जहां आपको इस तरीके से भजन का जप करना है जो सुनाई न दे सके।  इस क्रिया का अनुसरण करना मुश्किल हो सकता है|

  • लेकिन जब आप मन को कण्ट्रोल कर लेते हैं, तो आप किसी भी बाहरिक बाधाओं से प्रभावित होने से बच सकते है।
  • जप ध्यान के किसी भी रूप का अभ्यास करने के लिए, आप फर्श पर एक चटाई या आसन बिछा सकते है।
  • फिर पीठ को सीधे रखते हुए फर्श पर क्रॉस लेग में बैठ जाए।

इसे करने के लिए आप अपनी आवश्यकता अनुसार आधा घंटे या उससे ज्यादा समय के लिए ध्यान करना चुन सकते हैं। साथ ही आप समय की अवधि धीरे-धीरे बढ़ाने की कोशिश कर सकते हैं।

जप मैडिटेशन के फायदे

  • जप मैडिटेशन को नियमित रूप से करने से यह बेहतर फोकस और एकाग्रता को बढ़ाने में मदद करता है।
  • अगर आप जप मैडिटेशन को रोज करते है तो यह आपके मन को शांत करता है।
  • जप मैडिटेशन आपकी प्रोडक्टिविटी को बढ़ाने में मददगार है|
  • जप मैडिटेशन करने से शरीर में लचीलापन आता है। साथ ही यह जागरूकता को भी बढ़ाता हैI

जप ध्यान को करने के लिए मंत्र और मंत्र को जप करने की आवश्यकता के बारे में कोई कठोर नियम नहीं है। हालांकि, अधिकांश अनुयायी जप करने के लिए शब्द ‘ओम’ का चुनाव करते हैं। यह एक देवता या पवित्र शब्द का नाम भी हो सकता है बस शब्द का सकारात्मक अर्थ होना चाहिए।

Related Post

मानसिक शांति और एकाग्रता बढ़ाने में सहायक त्राटक क्... हमने अपने पिछले लेख में आपको षट्कर्म की नौली क्रिया के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी थी| जिसके बारे में शायद आप जानते भी नहीं होंगे| आज हम आपको षट्कर...
कई बीमारियों से निजात दिलाता है सहज योग का अभ्यास... हम हमेशा से सुनते आ रहे है, यदि इन्सान में इच्छा शक्ति हो तो वो हर चीज़ कर सकता है| जब यह तथ्य सही है तो व्यक्ति अपने स्वास्थ्य को भी सुधार सकता है| प्...
Nakshatra Meditation: अपनी कमियों को पहचानने में म... ज्योतिष, ब्रह्मांड का ऐसा विज्ञान है जो नक्षत्र (तारामंडल), राशी (संकेत) और ग्रह के साथ कार्य करता है। वेदों ने ज्योतिष को " दृष्टि" कहकर सर्वोच्च सम्...
शरीर और मन दोनों को पवित्र और शांत रखता है ॐ का उच... अंतरिक्ष तथा वायुमंडल में सौरमंडल के चारों तरफ, ग्रहों की गति से जो शोर हो रहा है वह ॐ की ध्वनि का चरम बिंदु है| ॐ ब्रह्माण्ड के अंदर नियमित ध्वनि है|...
2 Minute Meditation: कई परेशानियां दूर करे, केवल द... लोगो को सुबह उठते ही अपने अपने दैनिक कामो पर जाने की जल्दी होती है। उनके पास कुछ मिनट का समय भी नहीं होता है। ध्यान का अभ्यास तो छोड़िये उनके पास भगवान...
Isha Kriya: जीवन में शांति, उत्साह और ख़ुशी लाये... ईशा-क्रिया में ईशा का मतलब है, 'वह जो सृष्टि का स्रोत है और क्रिया यानी , 'आंतरिक कार्य। ईशा-क्रिया का मुख्य उद्देश्य व्यक्ति को उसके अस्तित्व के साथ ...

You may also like...