पद्मासन (लोटस पोज़) कैसे करें, लाभ और सावधानियाँ

comment 1

आज की जीवन शैली तनाव से भरपूर है| यह बात से हम सभी वाकिफ है| तनाव के चलते व्यक्ति को आत्मिक सुख का अनुभव नहीं हो पाता है| यहाँ तक की कई शारारिक और मानसिक रोगो की वजह भी तनाव ही है| आज के वक्त में शांति और सुख का अनुभव करना तो जैसे नामुनकिन सा ही हो गया है| यह तभी संभवत हो सकता है जब आप पूर्ण रूप स्वस्थ है।

अच्छा स्वास्थ्य प्राप्त करने के लिए कई चीज़े जरुरी होती है| जैसे नियमित व्यायाम, संतुलित खान पान, तली-भुनी चीज़ो से दूर रहना, प्रातः काल जल्दी उठना, रात को जल्दी सोना आदि चीज़ो का पालन करके हम अच्छे स्वास्थ्य को पा सकते है| लेकिन व्यस्त जीवन शैली के चलते यह सभी चीज़ो का पालन करना हर किसी के बस की बात नहीं है|

इसलिए स्वस्थ्य रहने का यदि कोई आसान तरीका है तो वो है योग का अभ्यास करना| योग के जरिये हम स्वस्थ एवं निरोगी रहते है| योग के अंतर्गत आने वाली हर क्रियाओ के अपने अपने लाभ है| आज हम जानेंगे पद्मासन आसन के बारे में| यह आसन को करने से भी आपको वही लाभ मिलते है जो ध्यान करने से मिलते है| यह मैडिटेशन करने का एक बेहतरीन तरीका है| यह आसन आपके दिमाग को शांत करता है और मन को भटकने से रोकता है।

जिन लोगो को मानसिक तौर पर बहुत मेहनत करनी होती है| या फिर जिनके दफ्तर का माहौल तनाव से भरा होता है| उन्हें इस आसन को जरूर अपनाना चाहिए| तो आइये जानते है Padmasana Benefits in Hindi.

Padmasana Benefits in Hindi: पद्मासन करने के स्वास्थ्य लाभ

Padmasana Benefits in Hindi

पद्मासन एक ऐसा आसन है जिसमे शरीर की आकृति कमल के सामान होती है| इसलिए इस आसान को पद्मासन नाम दिया गया है| इस आसान को कई लोग लोटस पोज़ के नाम से भी जानते है| यह आसन केवल ध्यान में बैठने का तरीका है। इस आसन से आपके शरीर को कई फायदे मिलते है| तो आइये जानते है इसे करने के क्या लाभ है|

पद्मासन करने के स्वास्थ्य लाभ

  1. यह आसन मन को शांत करता है और भटकने से रोकता है|
  2. इस आसन के नियमित अभ्यास से रक्तचाप नियंत्रण में रहता है।
  3. इसे करने से मेरुदंड सीधा, लचीला और मजबूत बनता है|
  4. इसके अभ्यास से वीर्य वृद्धि होती है।
  5. पद्मासन के अभ्यास से बुद्धि बढ़ती है एवं चित्त में स्थिरता आती है।
  6. जो लोग तनाव से निजाद पाना चाहते है| उन्हें इस आसान को करने से लाभ मिलता है|
  7. यदि आप गर्दन और रीढ़ की हड्डी को मजबूत और लचीला बनाना चाहते है तो पद्मासन योग क्रिया करे|
  8. जो व्यक्ति अपने पेट और कमर की चर्बी को कम करना चाहते है, उन्हें इसका अभ्यास नियमित करना चाहिए|
  9. पद्मासन योगाभ्यास से स्मरण शक्ति एवं विचार शक्ति बढ़ती है। इसलिए स्टूडेंट्स को इन आसनों को जरूर करना चाहिए|
आप यह भी पढ़ सकते है:- शरीर को छरहरा बनाना है तो रोज करे त्रिकोणासन योग

पद्मासन को करने का तरीका

  • Lotus Pose Yoga करने के लिए सबसे पहले तो किसी समतल जगह पर एक दरी या फिर आसन बिछाएं।
  • अब आहिस्ता आहिस्ता अपने पैरों को मोडे़ं और पैरों के पंजे को दूसरे पैर की जांघ के ऊपर रखें।
  • इसके पश्चात दूसरे पैर के पंजे को मोड़कर पहले पैर की जांघ पर रखें।
  • इस वक्त आपके पैरों के तलवे पेट की तरफ होना चाहिए|
  • इस बात का ध्यान रहे की कमर और गर्दन दोनों बिलकुल सीधी हो|
  • फिर दोनों हाथों की कुंहनियां अपने घुटनों पर रखें।
  • आपके दोनों कंघे बराबर और सीधें होना चाहिए|
  • अब अपनी आंखों को बंद करें और धीरे धीरे हलकी श्वांस लें।
  • इस आसन को पुनः पाँव बदलकर भी करना चाहिए।
  • जिन लोगो को दोनों पंजों को एक दूसरी जांघ पर रखने में दिक्कत आती हो वे केवल एक ही पंजे को जांघ पर रख सकते हैं।

पद्मासन में बरती जाने वाली सावधानियाँ

  1. जो लोग घुटनों के दर्द और या फिर शरीर में किसी सूजन से परेशान है, उन्हें यह आसन नहीं करना चाहिए।
  2. इसके अतिरिक्त जिन लोगो को कमरदर्द, ओस्टियो अर्थराइटिज और साइटिका की परेशानी हो वे भी इस आसन को न करें।

ऊपर आपने जाना Padmasana Benefits in Hindi. यदि आप भी उपरोक्त लाभ पाना चाहते है तो अपने दिन में कुछ समय पद्मासन के लिए जरूर निकाले| यह सबसे सरल आसन है और इसके लाभ भी कई हैं।

इस आसन का अभ्यास सुबह-सुबह रोजाना करें और धीरे-धीरे इस आसन की अवस्था में बैठनें के समय को बढ़ाएं। इस आसन का अभ्यास करते समय आपको किसी तरह की परेशानी आती है तो तुंरत योग विशेषज्ञ से सलाह लें।

Related Post