दिल और दिमाग को शांति पहुचाने के लिए करे शाम्भवी मुद्रा का अभ्यास

comment 0

योग मुद्राओ का अभ्यास करने से हमारे शरीर को बहुत फायदा मिलता है| कुछ मुद्राए करने में आसान होती है तो कुछ मुश्किल है| लेकिन हर तरह की मुद्रा से ही लाभ मिलता है| पिछले कुछ लेखो में हमने हस्त मुद्रा और उसके कुछ प्रकारों के बारे में जाना था| आज के इस लेख में हम आपको शाम्भवी मुद्रा के बारे में बता रहे है|

योग साधना मे शाम्भवी मुद्रा का विशेष महत्व बताया गया है| इसमें आपकी आँखे खुली तो होती है किन्तु आप देख नहीं सकते है ऐसी स्थिति जब सध जाती है तो उसे शाम्भवी मुद्रा कहा जाता है| इसकी एक खासियत यह है की इसे करते वक्त व्यक्ति नींद का आनंद भी उठा सकता है|

हो सकता है की शुरुवात में आपको इसे करते ना बने, या फिर करने में थोडा सा अजीब लगे तो हम आपको बता दे की धीरे धीरे आपको इसे करने की आदत हो जाएगी| बहुत कम इस साधना के बारे में जानते है, यदि आप भी इसके बारे में नहीं जानते है तो कोई बात नहीं आज हम आपको विस्तार में बता रहे है Shambhavi Mudra in Hindi.

Shambhavi Mudra in Hindi – जानिए शाम्भवी मुद्रा की विधि और लाभ

Shambhavi Mudra in Hindi

शाम्भवी मुद्रा को भगवान शिव की मुद्रा भी कहा जाता है| जब इस साधना को लम्बे समय तक किया जाता है तो बहुत ज्यादा नींद आने लगती है| इस मुद्रा को करने के बाद साधक घण्टो तक एक आसन पर चेतन अवस्था मे रहकर साधना कर सकते है।

जब इस Shambhavi Yoga को किया जाता है तो दोनो आँखे ऊपर मस्तिष्क में चढ़ जाती है और दिव्य प्रकाश के दर्शन भी होने लगते है। आइये जानते है इससे मिलने वाले कुछ फायदों के बारे में:-

मानसिक क्षमता बढ़ाये

  • शाम्भवी मुद्रा का अभ्यास करने पर आपकी मानसिक क्षमता में इजाफा होता है| दरहसल यह आपके मस्तिष्क में जबरदस्त तालमेल बिठाता है जिसके चलते मानसिक क्षमता बढती है|
  • इससे बुद्धी बढती है तथा सिखने की गति भी, इसलिए स्टूडेंट्स को तो इसे जरुर करना चाहिए|

नींद ना आना

  • यदि आप नींद ना आने की समस्या से परेशान है तो इसका अभ्यास करे|
  • इससे नींद की गुणवत्ता में भी सुधार आता है याने की आप रात को अच्छी नींद ले पाते है|

तनाव से निजात

  • इसके मात्र 20 से 25 मिनट के नियमित अभ्यास से आपके अन्दर ध्यान केन्द्रित करने की क्षमता बढती है|
  • इससे आपका तनाव दूर होता है और आत्मविश्वास में बढ़ोतरी होती है|

महिलाओ के लिए फायदेमंद

  • कुछ महिलाये जिन्हें मासिक धर्म की समस्या रहती थी उन्हें शाम्भवी मुद्रा का अभ्यास करने के लिए कहा गया और सर्वे का परिणाम वाकई पॉजिटिव था|
  • इसे करने के बाद मासिक धर्म संबंधी गड़बडिय़ों में डॉक्टरी इलाज में कमी दर्ज करवाई गयी है|
  • इसके अभ्यास से मासिक धर्म की अनियमितता, चिड़चिड़ापन, रक्त का बहुत ज्यादा स्त्राव आदि लक्षणों में सुधार देखने को मिला है|
आप यह भी पढ़ सकते है:- गुदाद्वार को रोग रहित रखने के लिए अवश्य करें अश्विनी मुद्रा

अन्य लाभ

  • इससे मानसिक और भावनात्मक सेहत सुधरती है|
  • इसके नियमित अभ्यास से मधुमेह, सिरदर्द, मोटापा, थाइरॉयड आदि में दिक्कत होती है|
  • इससे दिल की सेहत सुधरती है और दिल के रोग होने का खतरा कम होता है|
  • इससे उर्जा का स्तर 80% तक बढ़ जाता है|

Shambhavi Mudra Steps: जानिये इसकी विधि

  1. शाम्भवी मुद्रा ज्यादा कठिन नहीं है इसे करते वक्त आपको अपनी बोहो पर फोकस करना है|
  2. जब आप अपनी आँखों से आइब्रोस को देखते है तो आपको कुछ और नहीं दिखाई देता है|
  3. इसके करने के लिए अपनी दोनों ऑय बाल को ऊपर की और ले जाये| और जहा आपके दोनों आईब्रो की शुरुवात होती है वहा देखे|
  4. जब आप ऐसा कर पाएंगे तो आपको एक कर्व लाइन दिखेंगी जो बिच में जाकर दिखेंगी|
  5. इस स्तिथि में जितने देर आप अपनी आँखों को रख सकते है रख ले|
  6. शुरुवात में इसे करते वक्त कुछ ही देर में आपकी आँखे थक जाएँगी और दुखने लगेगी|
  7. ऐसा होने पर कुछ देर के लिए रिलैक्स करे, फिर वापिस से अपनी आँखों को सामान्य अवस्था में ले आये|
  8. इसका नियमित अभ्यास करने पर आपको धीरे धीरे इसे करने की आदत पढ़ जाएगी|
  9. शाम्भवी मुद्रा करते वक्त अपनी साँसों का आवागमन सामान्य रखे|
  10. जब आप ध्यान के तकनीक के साथ आगे बढ़ेंगे आपकी सांस धीमी और अधिक सूक्ष्म हो जायेगी|
  11. शाम्भवी मुद्रा आपको ध्यान की गहरी स्तिथि में लेजा सकती है|

ऊपर आपने जाना Shambhavi Mudra in Hindi. इसके अभ्यास से कई रोंग ठीक होते है| शाम्भवी आँख की मांसपेशियों को मजबूत बनाने में भी मदद करती है|

Related Post