शारीरिक गर्मी और मानसिक तनाव को दूर करे शीतली प्राणायाम

comment 0

गर्मी का मौसम नजदीक है ऐसे में हर व्यक्ति के मन में सबसे पहले यह बात आती है कि अब तो पसीने से परेशान हो जायेंगे, दिनभर की गर्मी से चेहरा जलने लगेगा और घर से बाहर निकलना भी मुश्किल हो जायेगा| यह मौसम थोड़ा परेशान करने वाला जरूर होता है| बच्चे हो या बड़े सभी इसके नाम से भी घबराने लगते है और हो भी क्यों न इस सीजन में किसी न किसी प्रकार की समस्या बनी रहती है|

गर्मी मौसम में पसीना बहुत आता है, जिससे शरीर पर अनेक छोटे-छोटे दाने निकल आते है जो काफी दर्ददायक भी होते है| इसके अलावा सर दर्द, चक्कर आना तथा शारीरिक कमजोरी भी होने लगती है| इस मौसम में ठीक से शरीर का ध्यान ना रखने पर कई बार लोगो को अस्पताल में भर्ती तक होना पड़ जाता है

अगर आपके मन में भी यही सब बाते चल रही है या आप भी इस तरह की समस्या से जूझ चुके है और इस बार गर्मी मौसम में इन् सभी परेशानियों से बचना चाहते है तो डरने या घबराने की बिलकुल जरुरत नहीं है| आज हम आपको एक ऐसे आसन के बारे में बताने वाले है जिसके अभ्यास से आप इन् सभी परेशानियों से बच पाएंगे| इस आसन का नाम है शीतली प्राणायाम, आइये जानते है क्या है Sheetali Pranayama in Hindi और यह कैसे किया जाता है |

Sheetali Pranayama in Hindi: जानिए इसकी विधि और लाभ

Sheetali Pranayama in Hindi

शीतली प्राणायाम जैसा की इसके नाम से ही पता चलता है इस प्राणायाम का संबंध शीतलता से है| यह हमारे शरीर को ठंडक प्रदान करता है| इसलिए इसे Cooling Breath भी कहा जाता है इस प्राणायाम को सभी योगासनो के बाद करना चाहिए, ऐसा करने से शरीर की थकान दूर हो जाती है और शरीर में बनी रहती है| इसके अलावा यह मन की शांति भी प्रदान करता है| यह प्राणायाम एक छायादार वृक्ष की तरह है जो भरपूर ऑक्सीजन का निर्माण करता है|

शीतली प्राणायाम की विधि

अगर आप तनाव जल्दी ले लेते है या सिर दर्द की समस्या से परेशान है तो यह आसान आपके लिए बहुत फायदेमंद है| यह सिर दर्द को दूर भगा देता है और दिमाग को शांत रखता है| यह प्राणायाम बहुत ही सरल और आसान है| आइये जानते है इसे करने की विधि –

  1. इस प्राणायाम को करने के लिए सबसे पहले समतल और साफ़ जमीन पर कपडा या चटाई बिछाकर बैठ जाएं|
  2. इसे आप किसी भी पद्मासन, सुखासन या अन्य किसी आसन में बैठकर भी कर सकते है|
  3. इसके बाद अपनी जीभ को बाहर की तरह निकालकर एक नली (पाइप) के सामान बना लें| (जैसा चित्र में दिखाया गया है)
  4. अब जीभ द्वारा बनाई गई नली के माध्यम से साँस ले और वायु से पेट को पूरा भर लें|
  5. अब पुनः जीभ को अंदर की तरह कर ले और मुंह को बंद कर लें|
  6. इसके बाद अपनी गर्दन को आगे की झुकाकर, अपने जबड़े के अगले भाग को छाती से लगाएं और थोड़ी देर के लिए साँस रोककर रखें|
  7. अब वापस से गर्दन को सीधा कर लें और नाक से वायु को बाहर निकल दें| कोशिश करें साँस बाहर निकालने का समय, साँस अंदर खीचने के समय से अधिक हो|
  8. इस प्रक्रिया को आप अपनी क्षमतानुसार 40 बार तक कर सकते है|
आप यह भी पढ़ सकते है:- हास्य योग कीजिये और अपनी ज़िंदगी को ओर भी बेहतर बनाइये

शीतली प्राणायाम के लाभ

इस प्राणायाम के नियमित अभ्यास से अनेक लाभ मिलते है| आइये जानते है Sheetali Pranayama Benefits

  1. शरीर की आंतरिक गर्मी को कम करने का यह सबसे अच्छा तरीका है|
  2. मष्तिक और भावनात्मक उत्तेजना तथा मन की चंचलता को कम करने में सहायक है|
  3. यदि इसे सोने से पूर्व किया जाये तो गहरी और अच्छी नींद आती है तथा दिमाग भी शांत रहता है|
  4. गर्मी के दिनों में शरीर को ठंडक पहुचने में सहायक
  5. एसिडिटी और रक्तचाप को कम करता है|
  6. पाचन तंत्र को मजबूत बनाये तथा ह्रदय रोगों में लाभकारी है|

सावधानियाँ

  1. अगर वातावरण में ठंडक या नमी हो तो यह प्राणायाम नहीं करना चाहिए|
  2. दमा और सर्दी-जुखाम से पीड़ित व्यक्तियों को नहीं करना चाहिए|
  3. अगर आप रक्तचाप कम रहता है तब भी यह प्राणायाम नहीं करना चाहिए|

आज आपने जाना Sheetali Pranayama in Hindi, इसका नियमित अभ्यास कर आप आप गर्मी के मौसम में भी ठंडक का अनुभव ले सकते है|

Related Post