योग करने के भी होते है साइड इफेक्ट्स, जानिए यहाँ

comment 0

हम हमेशा से सुनते आ रहे है की योग का अभ्यास करने से शरीर को फायदा मिलता है| इसका नियमित अभ्यास शरीर के लिए स्वास्थ्यकर माना गया है| पर क्या आप जानते है की योग करने से शरीर को नुकसान भी पहुँचता है| इसे करने से ना केवल शारारिक बल्कि मानसिक साइड इफेक्ट्स भी होते हैं|

योग निरोग तो रखता है लेकिन इसके कुछ साइड इफेक्ट्स भी हैं। जिन्हे कुंडली सिंड्रोम कहा जाता है। बहुत ज्यादा देर तक योग और प्राणायाम के अभ्यास से आप भी कुंडली सिंड्रोम के शिकार हो सकते हैं। हम आपको बताना चाहते है की योग करने से शरीर की मांसपेशियों तथा ब्लड नर्व्ज में खिंचाव होता है।

यदि योग का अभ्यास आवश्यकता से अधिक, या फिर कहे की शरीर की फ्लेक्सिबिलिटी के विरूद्ध ज्यादा जोर दिया जाए तो शरीर की मांसपेशियां खिंच जाती हैं| नतीजनत् शरीर के उस हिस्से में दर्द प्रारंभ हो जाता है। यदि वक्त के रहते इस परेशानी पर ध्यान नहीं दिया जाये तो आपके शरीर का वह हिस्सा लकवाग्रस्त भी हो सकता है| तो आइये जानते है Side Effects of Yoga in Hindi, योग से होने वाले दुष्प्रभाव के बारे में|

Side Effects of Yoga in Hindi: योग के नकारात्मक प्रभाव

Side Effects of Yoga in Hindi

अत्यधिक थकावट

यदि आपको योग करने के बाद एक कॉफी या झपकी की जरूरत महसूस होती हैं? इसका मतलब है की आप आपकी क्षमता से अधिक योग का अभ्यास कर रहे है। पावर योगा के अत्यधिक अभ्यास से शरीर में गर्मी उत्पन्न होती है और शरीर से इलेक्ट्रोलाइट्स और सोडियम का स्तर कम हो जाता है। यदि योग करने के बाद आपको चक्कर आना, थकान महसूस होना, अत्यधिक कमजोरी या मितली आती है, तो ये इस बात का संकेत है की आप बहुत ज्यादा योग कर रही है|

ऐसा होने पर योग क्लास से कुछ देर के लिए बाहर चले जाये| बाहर की हवा में सांस लेने से आपको अच्छा महसूस होगा| खूब सारा पानी पिए, पर्याप्त नींद और आराम ले और योग के समय को थोड़ा कम करे|

बन जाती है आदत

योग के नियमित अभ्यास से शरीर को बहुत फायदे मिलते है| इन फायदों को देखकर कुछ लोग योग के दीवाने बन जाते हैं। एक बार योग करने की आदत पढ़ जाये तो फिर योग को बिना करे अच्छा नहीं लगता है| वो जिस दिन योग ना करे, उन्हें फ्रेश महसूस नहीं होता, आलसी आती है और उनका मन भी नहीं लगता है| योग को लेकर लोगो का यह दीवानापन उन्हें बाद में बीमार भी कर सकता है।

लकवा होने का डर

Yoga Side Effects जाने तो, योग के अभ्यासों से शरीर की मांसपेशियों में बहुत खिंचाव होता है। इसलिए अगर योग को करते समय जरुरत से ज्यादा शरीर की फ्लेक्सिबिलिटी के विरूद्ध जोर दिया जाए तो शरीर की मांसपेशियां खिंच जाती हैं| जिसके चलते शरीर के उस हिस्से में दर्द शुरू हो जाता है। समय रहते यदि इस समस्या पर ध्यान नहीं दिया जाये तो शरीर का वह हिस्सा लकवाग्रस्त होने की संभावना हो जाती है|

आप यह भी पढ़ सकते है:- योगा के लिए नए है तो ध्यान रखें ये जरुरी बातें

चोट लगना

योग करते वक्त चोट लगने की समस्या बहुत आम हैं। योग के दौरान लगने वाली चोटो में गर्दन , घुटने और कंधे की चोट शामिल हैं। यहाँ तक की कई बार मांसपेशियों का फटना, हर्नियेटेड डिस्क और कार्पल टनल की परेशानी भी देखने को मिलती है। कुछ योग के आसन जैसे की चतुरंग, पुश अप्स आदि में कोहनी को मोड़ना पढता है, जिससे की इसमें कलाई, कोहनी और कंधे को व्यापक क्षति होने का खतरा बना रहता है|

गुस्सा बढ़ जाता है

योग के अत्यधिक अभ्यास करने से शरीर में टेस्टोस्टेरॉन हॉर्मोन का प्रवाह अधिक होने लगता है| जिसके चलते व्यक्ति में आक्रामकता बढ़ जाती है। और ऐसे में मनुष्यो को मामूली-बातों पर भी गुस्सा आने लगता है।

आध्यात्मिक भ्रम

कई बार योग क्लासेज जाकर लोग अपने स्वास्थ्य सुधारने नहीं बल्कि कुछ और चीज़ो के बारे में ध्यान देने लगते है| कई बार लडकिया दूसरी लड़कियों की वीडियो देखकर उसके जैसा बनने का सोचने लगती है| और इसी चीज़ का फायदा योग शिक्षक उठाने लगते है| इसलिए ही योग शिक्षकों और सेक्स घोटाले की सुचना कई बार सुनने को मिलती है| कुछ शिक्षक उनकी शक्ति का दुरुपयोग करने जैसे अपने छात्रों को छूना और यौन सम्बन्ध बनाने के लिए जाने जाते हैं।

आप हमेशा एक बात याद रखे की यदि आप कड़ी मेहनत करेंगे तो मन मुताबित लाभ पा सकते है| आपकी रक्षा करना आपका ही कार्य है| इसलिए किसी की बहकावे में नहीं आये| और यदि आपको शिक्षक का व्यव्हार अनुचित लग रहा है तो वैसी जगह जाने से बचे|

खाने का टेस्ट बदल जाता है

नियमित रूप से योग करने पर मस्तिष्क में कई बदलाव होते हैं। जिसके चलते खान-पान की आदतों में भी बदलाव आता है। अक्सर कई बार योग के हैबीच्यूल लोगो में देखा गया है की वे लोग नॉन-वेज तथा शराब को नापसंद करने लगते हैं। इसके बजाय वे सादा, शाकाहारी खाना पसंद करने लगते हैं| वैसे तो यह बदलाव शरीर को हेल्दी बनाए रखने के लिए अच्छा है|

ऊपर आपने जाना Side Effects of Yoga in Hindi. योग का मतलब बंधन नहीं है| इसलिए जितना आपसे योग को करते बने उतना ही करे| जबरदस्ती अपने शरीर पर दबाव ना डाले| खुद पर भरोसा करे|

Related Post