शरीर को छरहरा बनाना है तो रोज करे त्रिकोणासन योग

comment 0

गलत जीवन शैली के चलते वजन का बढ़ना आम बात है| वजन बढ़ने के पीछे का मुख्य कारण शरीर की चर्बी बढ़ना होता है| चर्बी बढ़ने के कारण हमारे शरीर का शेप बिगड़ने लगता है| देखा जाये तो वजन बढ़ने पर हमारी कमर और पेट ज्यादा प्रभावित होता है| जिन लोगो का पेट और कमर का मांस बाहर निकला होता है, वे लोग लोगो के बीच बैठने में असहज महसूस करते है|

इस तरह के बेडौल शरीर व्यक्ति की सुंदरता तो छीनते ही है, साथ ही ये मोटापा कई और बीमारियो को भी आमंत्रित करता है| यदि आप भी अपना वजन बढ़ने से परेशान हैं, तो अब और परेशान होने की जरूरत नहीं है| चिंता मत कीजिये अपने वजन को घटाने के लिए आपको घंटो पसीना बहाने वाली भारी और मुश्किल एक्सरसाइज नहीं करना है|

सिर्फ दिन में 10 मिनट त्रिकोणासन करके आप परफेक्ट फिगर पा सकते है| त्रिकोणासन योग क्रिया का नियमित अभ्यास आपको एक पतली कमर के साथ-साथ, सुड़ौल काया भी देता है|

त्रिकोणासन आसान को अंग्रेजी में Triangle Pose के नाम से भी जाना जाता है| त्रिकोणासन योग करते समय आपके शरीर का आकार त्रिकोण के समान हो जाता है, इसलिए इसे त्रिकोणासन कहा जाता हैं। मोटापे से परेशान लोगो को यह आसान जरूर करना चाहिए| तो आइये जानते है Trikonasana in Hindi, इसकी विधि और लाभ आदि|

Trikonasana in Hindi: त्रिकोणासन कैसे करे और इसके लाभ

Trikonasana in Hindi

Trikonasana Benefits: त्रिकोणासन से मिलने वाला लाभ

  1. यह प्रजनन अंगों में सुधार कर बांझपन को दूर करता है|
  2. इससे चिंता, तनाव दूर होता है, और मानसिक शांति मिलती है|
  3. इससे पेट और कमर की चर्बी कम होती है और शरीर छरहरा बनता है|
  4. यह रीढ़ की हड्डी में लचीलापन लाता है, इससे गर्दन के दर्द में राहत मिलती है|
  5. इसका नियमित अभ्यास करने से छाती का विकास होता है और माशपेशिया मजबूत बनती है|
  6. त्रिकोणासन योग क्रिया जांघों, घुटनों और टखनों को मजबूत बनाने में फायदेमंद है|
  7. इस आसान को करने के कई लाभ है, इसे करने से भूख, पाचन और रक्त परिसंचरण में सुधार होता है और पेट फूलने में राहत मिलती है|

त्रिकोणासन योग क्रिया करने का तरीका

Triangle Yoga Pose करने के लिए सबसे पहले तो अपने दोनों पैरों को दो फुट की दूरी पर रखकर सीधे खड़े हो जाइए| इसके पश्चात अपने दोनों हाथों को कन्धों की समरेखा में सीधे फैलायें| इस वक्त आपकी भुजाएं जमीन के बिल्कुल समानान्तर होनी चाहिए|

अब धीरे-धीरे राइट की और झुकें| ध्यान रहे की लेफ्ट घुटना सीधा और तना हुआ हो| फिर सीधे पैर के अंगूठे को सीधी हाथ की उँगलियों से स्पर्श करने की कोशिश करे| गर्दन को थोडा-सा सीधा और झुकायें| अब उलटे भुजा को ऊपर की ओर फैलायें| इस मुद्रा में 2-3 मिनट रहें और धीरे-धीरे सांस लीजिये| यही प्रक्रिया को अब लेफ्ट साइड से भी दोहराइए|

Triangle Yoga Pose

त्रिकोणासन में बरती जाने वाली सावधानी

त्रिकोणासन आसान करने के कई लाभ है| लेकिन इनमे कुछ सावधानियों को रखना आव्यशक है| जैसे की यह आसान उन लोगों को नहीं करना चाहिए जिनके पेट की सर्जरी हुई हो। इसके अतरिक्त किसी को स्लिप डिक्स की दिक्‍कत हो तो उन्हें भी त्रिकोणासन करने से बचना चाहिए| साइटिका पेन के मरीज को भी इस आसान को करने से बचना चाहिए|

आप यह भी पढ़ सकते है:- मधुमेह और मेरूदंड के रोगों को दूर करने में मददगार पश्चिमोत्तानासन

ऊपर आपने जाना Trikonasana in Hindi. आप भी त्रिकोणासन करके लाभ प्राप्त कर सकते है| बसर्ते आपको यह बात समझना होगी की इसके विशेष लाभ हासिल करने हैं तो इस आसन का नियमित तौर पर अभ्यास करें। योग विशेषज्ञों का कहना होता है कि किसी भी आसन या एक्सरसाइज का आप सम्पूर्ण लाभ हासिल करना चाहते है तो उसे नियमित तौर पर करे| कभी कबार आसन करने से उसके फायदे नहीं मिल पाते|

त्रिकोणासन करने से कमर और कूल्हे की चर्बी कम होती है। इसके अतिरिक्त पेट और छाती के बगल की मांसपेशियों को सम्पूर्ण व्यायाम होता है। आप अगर रोज इस व्यायाम के लिए समय नहीं निकाल पाते है तो हफ्ते में कम से कम 4-5 दिन इसे करना जरुरी है| एक बात का ख्याल रखें कि त्रिकोणासन का अभ्यास तेज गति से करना चाहिए। ऐसा करने से ही पूरे शरीर को इसका लाभ पहुंचता है।

Related Post