Yoga for Arms: हाथों के ऊपरी हिस्से को टोन करने व मजबूत बनाने में सहायक

comment 0

फिटनेस के लिए दुबला होना नहीं बल्कि यह जरुरी है कि आपकी पूरी बॉडी टोंड हो| टोंड बॉडी आपके शरीर को स्वस्थ को रखती ही है साथ ही इससे आपका व्यक्तित्व भी निखरता है।

यदि शरीर के एक भाग में भी अतिरिक्त चर्बी जम जाती है तो पूरा शरीर बेडोल लगने लगता है। पेट की चर्बी और पैरो की चर्बी जितना प्रभाव शरीर पर डालती है उतना ही प्रभाव हांथो के ऊपर चर्बी आने पर भी होता है|

यदि हाथो के ऊपरी भाग में चर्बी जम जाती है। तो यह हमारे शरीर की सुंदरता को कम कर देती है। कभी कभी ये चर्बी इतनी ज्यादा होती है की स्किन ढीली होकर लटकने लगती है। इसके कारण उम्र भी ज्यादा दिखने लगती है।

हाथों में अतिरिक्त चर्बी के चलते, जब भी हम ज्यादा काम कर लेते है तो हाथों में अचानक से झनझनाहट होने लगती है। अपने हांथो को टोंड करने के लिए योग बहुत ही उत्तम होता है| आइये जानते है कुछ Yoga for Arms जिसकी मदद से आप अपने हाथो को टोन कर सकते है|

Yoga for Arms: आपकी भुजाओं की अतिरिक्त चर्बी घटाए

Yoga for Arms

चतुरंगा दण्डासना

  • इस आसन का नाम 3 शब्दों से मिलकर बना है। जैसे चतुर + अंग+ दंड।
  • जिसमे चतुर का अर्थ है चार, अंग कर अर्थ है शरीर का अंग, दंड का अर्थ है डण्डा।
  • इस आसन को नियमित रूप से करने पर बाजू और कलाइयां मजबूत होती है।
  • साथ ही इसे करने से कंधो में ताकत भी आती है और इससे एप्स भी बनते है।
  • यह पैरों को सक्रिय करता है| इससे आपके हांथो के साथ पेट भी टोंड होता है।
  • चतुरंगा दण्डासना कलाई, बांहो और पेट की मांसपेशियों तथा पीठ के निचले हिस्से को मजबूत और टोन करता है।
  • यह हांथो के संतुलन के लिए भी लाभदायक होता है।

डाउनवर्ड फेसिंग डॉग

  • इस आसन को अधोमुख श्वानासन भी कहा जाता है।
  • यह आसन करने में बहुत ही सरल होता है।
  • इस आसन को प्रतिदिन करने से यह पूरे शरीर को शक्ति प्रदान करता है विशेषकर हाँथ, कंधे और पैरों को।
  • इस आसन द्वारा मांसपेशिया सुद्रिढ होती है और मस्तिष्क में रक्त संचार बढ़ता हैI
  • अधोमुख श्वानासन शरीर को ऊर्जा भी प्रदान करता है।

प्लैंक एक्सरसाइज

  • यह अकेली एक्सरसाइज है जो लगभग पूरे शरीर को मजबूत बनाती है।
  • इससे हांथो और पैरो को मजबूती मिलती है। साथ ही हाथों और पैरों को बेहतरीन शेप भी मिलता है।
  • प्लैंक आर्म एक्सरसाइज पेट की चर्बी को कम करने में भी मददगार है|

कोबरा पोज़

  • इस आसन को भुजंगासन भी कहा जाता है।
  • इस आसन को करने से हाँथ,पीठ और कंधों को मजबूती मिलती है|
  • साथ ही कोबरा पोज़ पेट के स्नायुओं को मज़बूत बनाता है।
  • इस आसन को नियमित रूप से करने पर कमर का दर्द भी ठीक हो जाता है।
  • जिन लोगो को बहुत ज्यादा तनाव रहता है वो इस आसन को जरूर करे|

सलभासन

  • इस आसन को लोकस्ट पोज़ भी कहते है|
  • यह आसन आपके हाथो को संतुलित करता है तथा इन्हे मजबूत बनाता है|
  • यह गर्दन और कन्धों कि नसों को आराम दिलाता है|
  • इससे शरीर की पाचन क्रिया भी सुधरती है|

Related Post