Yoga for Bipolar Disorder: योग द्वारा कीजिये द्विध्रुवी विकार को दूर

comment 0

बाइपोलर डिसऑर्डर, एक मानसिक स्वास्थ्य संबंधी परिस्थिति हैं। यह व्यक्ति के दिमाग को प्रभावित करती है। इस बीमारी से ग्रसित व्यक्ति का मूड, व्यवहार और सोच मे अचानक और कभी भी परिवर्तन देखने को मिलता है|

बाइपोलर डिसऑर्डर होने के कारण की बात करे तो यह ज्यादातर जेनेटिक समस्या या बचपन में किसी गहरे सदमे और लंबी अवधि के तनाव जैसे आघात के कारण होता है।

बाइपोलर डिसऑर्डर के कारण व्यक्ति डिप्रेशन में चला जाता है और हर चीज में उसे नकारात्मकता दिखती है। जिसके कारण से उसे चिंता करने की समस्या होने लगती है। तनाव इसका मुख्य कारण होता है। योग के द्वारा इस समस्या को दूर किया जा सकता है।

योग में तनाव को कम करने की क्षमता होती है| इसलिए योग से शारीरिक ही नहीं मानसिक रूप से भी मजबूत होते है। योग के कुछ आसन बाइपोलर डिसऑर्डर की समस्या दूर करने के साथ पूरे शरीर को स्वस्थ बनाने में सहायता करते हैं। तो चलिए जानते है Yoga for Bipolar Disorder.

Yoga for Bipolar Disorder: बाइपोलर डिसऑर्डर के लिए फायदेमंद आसन 

Yoga for Bipolar Disorder

दंडासन

  • दंडासन को प्रतिदिन करने से दिमाग की कोशिकाएं शांत होती है।
  • दंडासन को प्रतिदिन सुबह खाली पेट करना चाहिए।
  • यदि आप शाम के समय इसे कर रहे है तो खाने के 4-6 घंटे के अंतराल पर ही करना चाहिए।
  • इस आसन को आप15 से 30 सेकेंड तक कर सकते है।
  • यह आसन आपकी रीढ़ की हड्डी को भी मजबूती प्रदान करता है|
  • यहां जानिए दंडासन की विधि -> Dandasana Steps

गरुड़ासन

  • यह आसन सोचने की क्षमता को संतुलित करने में सहायता करता है।
  • गरुड़ासन करने से एकाग्रता बढ़ती है|
  • साथ ही इसे करने से कंधे और पैर के पिछले हिस्से मजबूत बनते है।
  • इस आसन द्वारा पैर और कूल्हे को ढीला करके उसे लचीला बनाया जा सकता है|
  • गरुड़ासन को सुबह खाली पेट करना चाहिए और 15-30 सेकेंड तक इसे कर सकते है|

उपविष्ट कोणासन

  • इस आसन को सीटेड वाइड ऐंगलड पोज़ भी कहते है।
  • यह एक मध्यवर्ती स्तर हठ योग आसन है।
  • इस आसन को सुबह खाली पेट अभ्यास करे और 30 से 60 सेकंड के लिए मुद्रा में रहे।
  • यह आसन दिमाग को शांत करता है और पेट के अंगो को उत्तेजित करता है।

सेतु बंधासन

  • इस आसन द्वारा कंधों और कोर मांसपेशियों को खोलने में सहायता मिलती है।
  • यह आसन शारीरिक और मानसिक दोनों तनाव कम करने में सहायक है|
  • सेतु बंधासन के अभ्यास से उच्च रक्तचाप की समस्या कम होती है|
  • इसे सुबह के समय, खाली पेट करना लाभकारी होता है।

पश्चिमोत्तानासन

  • इसे सीटेड फॉरवर्ड बेंड आसन भी कहा जाता है।
  • तनाव दूर करने के लिए यह आसन बहुत ही लाभकारी होता है।
  • इसे करने से कमर की अच्छी स्ट्रेचिंग हो जाती है|
  • इस आसन को सुबह या शाम किसी भी वक्त किया जा सकता है। आपको 30-60 सेकेंड तक इस मुद्रा में रहना होता है।

बाइपोलर डिसऑर्डर को दूर करने के लिए उपरोक्त सारे योग लाभकारी है| इसके अतिरिक्त अर्ध पिंच मयूरासन और शीर्षासन भी कर सकते है।

Related Post