योग की मदद से दूर करे सीने की जकडन और दर्द

सीने में दर्द होना आजकल एक आम समस्या हो गया है| जब भी आप बहुत तनाव में होते है या फिर अत्यधिक परिश्रम करते है तो सीने में दर्द होना स्वाभाविक है| इसके अतिरिक्त भी सीने में दर्द के कई कारण है जैसे फेफड़े, पसली या नसों में भी कोई समस्या उत्पन्न होने पर सीने में दर्द होने लगता है|

बहुत से लोग चेस्ट में दर्द और जकड़न की भावनाओं से ग्रस्त हैं। दरहसल ऊपरी छाती की माशपेसिया आपके कंधे के रोटेशन में मददगार होती है| ऐसे में जब मांसपेशियों में तनाव आता है तो छाती के साथ गर्दन और कंधे में दर्द होता है| कुछ योग मुद्राए सीने में दर्द और जकडन में मदद करती है|

यदि आप योग का अभ्यास करते है तो ना केवल आपको सीने में दर्द बल्कि स्वास्थ्य के लिए भी कई फायदे मिलते है| इससे आप तनाव से दूर रहते है, आपका वजन नियंत्रित रहता है आदि| आज के लेख में हम जानेंगे Yoga for Chest Pain in Hindi.

Yoga for Chest Pain in Hindi: शारीरिक थकान और पेट के अंगो के लिए भी लाभदायक

Yoga for Chest Pain in Hindi

 

योग आसनों का अभ्यास सीने में जकडन को ठीक करता है| योगा आसन पेक्टोरल मांसपेशी को स्ट्रेच करता है| आपके शरीर के मोशन और पोस्चर को सुधारता है| इसे करने से आपके सीने, भुजाओ तथा कंधो में लचीलापन आता है| सीने से जकडन को दूर करने के लिए हजारो योग आसन है| किन्तु इनमे से प्रमुख है धनुरासन, भुजंगासन आदि| यह आपके सीने को खोलते है और इससे आपके सामने के तरफ के पुरे शरीर की स्ट्रेचिंग होती है| यह तनाव और थकान को दूर करने में मदद करते है तथा अपने पेट के अंगों को सुचारू रूप से चलाते है।

मार्जरी आसन

यदि सीने में जकड़न बहुत ज्यादा बनी हुई है तो चिकित्सक से संपर्क करना आपके लिए जरुरी है| लेकिन यदि यह केवल रोजमर्रा की थकान और तनाव का परिणाम है तो मार्जरी आसन इसमें आपकी मदद कर सकता है| मार्जरी आसन का अभ्यास महिलाओं के लिए विशेष रूप से लाभदायक है। इससे उन्हें दिन भर उर्जावान महसूस होता है|

मार्जरी आसन कैसे करे?

  1. सबसे पहले चटाई पर अपने दोनों घुटनों और दोनों हाथों को जमीन पर रखकर खड़े हो जाएं।
  2. आपको अपने हाथों को जमीन पर बिलकुल सीधा रखना है ध्यान रखे हाथ कंधों की सीध में हों और हथेली फर्श पर|
  3. आपके हाँथ और जांघें एक दुसरे से सामानांतर होना चाहिए।
  4. अपने घुटनों को आप एक-दूसरे से सटाकर या थोड़ी दूर भी रख सकते है।
  5. इसके पश्चात रीढ़ को ऊपर की तरफ उठाते हुए सांस को अंदर की और खींचें।
  6. आपको तब तक इसे ऊपर उठाना है जब तक पीठ अवतल अवस्था में पूरी तरह ऊपर खिंची हुई दिखे।
  7. अपने सिर को ऊपर की और उठाए रखें और पेट के पूरी तरह से हवा से भरने तक सांस खींचते रहे|
  8. अब सांस को तीन सेकंड तक भीतर रोक कर रखें।
  9. अपनी पीठ को बीच से ऊपर उठाकर सिर को नीचे की और झुकाएं तथा अपनी दृष्टि नाभि की और रखे।
  10. अब सांस छोड़ते हुए अपने पेट की पूरी हवा बाहर निकाल दे|
  11. इसके बाद सांस को फिर तीन सेकंड के लिए रोकें और सामान्य अवस्था में वापस आ जाएं।
  12. इस तरह आपके आसन की एक प्रक्रिया पूरी हुई|
  13. सांस लेने और छोड़ने की प्रक्रिया अपनी क्षमता अनुसार ही करे|
आप यह भी पड़ सकते है:- ह्रदय रोंग की संभावनाओ को कम करता है योग

भुजंगासन

Chest Pain Treatment के लिए भुजंगासन बहुत मददगार है| भुजंगासन सीने की जकडन खोलने के साथ साथ स्लिप डिस्क में भी मददगार है। जिस तरह एक सर्प का शरीर लचीला होता है उसी प्रकार इस आसन के अभ्यास से हम अपने शरीर को लचीला और फुर्तीला बना सकते है|

भुजंगासन कैसे करे?

  1. इसे करने के लिए पेट के बल लेटे और पैरों को सीधा व लम्बा फैला दे।
  2. अपनी हथेलियों को कन्धों के नीचे जमीन पर रखे तथा सिर को जमीन से छूने दे।
  3. अब धीरे-धीरे अपने सिर और कंधे को जमीन से ऊपर उठाइये तथा सिर को जितना हो सके पीछे की ओर ले जाने की कोशिश करे|
  4. धीरे-धीरे अपनी पूरी पीठ को ऊपर की ओर तथा पीछे की ओर झुकाते जाइये।
  5. इस अवस्था में अपने हाथो को एकदम सीधा रखे|
  6. इस आसन को करते समय जमीन से शरीर को ऊपर उठाते वक्त श्वास अंदर लीजिये और अंतिम स्थिति में श्वास अन्दर रोक कर रखें।
  7. सामान्य स्तिथि में लौटते वक्त धीरे-धीरे श्वास बाहर छोड़ दीजिये|
  8. यह आसन करते समय इस बात का ध्यान रखें कि पीठ पर अत्यधिक तनाव या अनावश्यक खिंचाव न पड़े|
  9. इस आसन को आप नियमित पांच से छह बार तक कर सकते है|

ऊपर आपने जाना Yoga for Chest Pain in Hindi. सीने में जकड़न अक्सर शरीर के गलत पोस्चर, मांसपेशियों में अत्यधिक तनाव का एक परिणाम है, लेकिन यह भी इस तरह के गंभीर हालत का भी संकेत हो सकता है, जैसे की पेनिक अटैक या दिल का दौरा| इसलिए यदि आप सीने में जकडन और उसके साथ ही चक्कर आना जैसे लक्षण अनुभव करते हैं, तो जितनी जल्दी हो सके चिकित्सीय सहायता ले|

You may also like...