योग की मदद से डार्क सर्कल्स से पाए हमेशा के लिए छुटकारा

आजकल लोगो की दिनचर्या बहुत ही तनावग्रस्त और भागदौड़ वाली हो गयी है| आज के वक्त में अधिकतर लोगो की लाइफस्टाइल अनहेल्दी है| घंटो कंप्यूटर पर काम करने, नींद पूरी ना होने, और ठीक से खानपान ना करने के चलते आँखों के निचे काले घेरे की समस्या हो रही है| काले घेरे को अंग्रेजी में डार्क सर्कल्स के नाम से जाना जाता है|

काले घेरे आँखों के आसपास पढने वाले कालेपन को कहा जाता है| इस दिनचर्या के दुष्प्रभाव से ना केवल महिलाये बल्कि पुरुष भी प्रभावित है| इसके वजह से आपका चेहरा मुरझाया हुआ और सुस्त दिखाई देता है| आपकी आँखों के चलते, आपकी सुंदरता काफी प्रभावित होती है|

यदि आप फ्रेश और यंग दिखना चाहते है तो आपको इन काले घेरे को ख़तम करना होगा| इसके लिए एक अच्छी लाइफस्टाइल ही आपकी मदद कर सकती है| अपनी दिनचर्या में योग का समावेश कर आप अच्छे दिख सकते है| तो आइये आज के लेख में जानते है Yoga for Dark Circles in Hindi.

Yoga for Dark Circles in Hindi – आँखों के काले घेरे से निजात

Yoga for Dark Circles in Hindi

फेस योग – सर्कल द आइज

स्टेप 1:

  1. फेस योग की मदद से भी आप आँखों के निचे के काले घेरे से छुटकारा पा सकते हैं। आइये देखते है की इसकी विधि क्या है?
  2. इसके लिए आप आप अपनी बीच के उंगलियों को, आइब्रो जहा शुरू होती है वह रखे|
  3. इसके पश्चात अपनी आइब्रो के ऊपर से शुरू करते हुए आँखों के आसपास वाली जगह पर आराम से दबाव बनाएं।
  4. कुछ सेकंड्स यही क्रिया दोहराते रहे|
  5. इसके पश्चात आप अपने चिक्बोन्स (गाल की हड्डी) को अपनी आँखों के भीतरी कार्नर तक ले जाएं।
  6. इसके बाद इसी क्रिया को विपरीत दिशा में भी दोहराए और थोड़ी सी गति बढ़ा ले।
  7. इस क्रिया के अभ्यास से ना केवल आपके डार्क सर्कल कम होंगे बल्कि इससे आँखों की झुर्रियां भी कम होती है|
  8. दरहसल इससे आपके आँखों का ब्लड सर्कुलेशन सुधरता है जिसके चलते मांसपेशियों को आराम मिलता है|

स्टेप 2:

  1. ऊपर वाली क्रिया करने के बाद आप अपनी तर्जनी उंगली की मदद से आँखों के नीचे वाली जगह को बाहर की ओर सहलाएं।
  2. ऐसा करने से इस क्षेत्र से टोक्सिन दूर होते है साथ ही ब्लड सर्कुलेशन व ऑक्सीजन में वृद्धि होती है जिसके चलते आँखों की सूजन (Eye Bags) कम करने में मदद मिलती है।
  3. आपको इस क्रिया को चार से पाच बार करना है|

हम आपको यह भी बता दे की आँखों के नीचे की त्वचा, आपके चेहरे की त्वचा की तुलना में बहुत अधिक पतली होती है| इसलिए जब भी इस योग को किया जाये तो आप इसके लिए थोड़ी सी सावधानी बरते| दरहसल इस इस हिस्से में कोई तेल ग्रंथि नहीं होती है तो आप डायरेक्ट सूखे हाथो से मालिश ना करे, इसके लिए आप बादाम का तेल या फिर किसी ऑय जेल का इस्तेमाल करे|

लाइनों व झुर्रियों को रोकने के लिए आपको अपनी आँखों को हाइड्रेट रखना जरुरी है| इसलिए इस क्रिया को आप हर रात कर सकते है। इससे आपकी त्वचा अच्छी रहेगी और कोलेजन का उत्पादन भी बढेगा|

शाम्भवी  मुद्रा

शाम्भवी  मुद्रा का अभ्यास का अजन चक्र को जगाने में मदद करता है। यह ध्यान का ही एक रूप है| इसका काम हमारे शरीर के महत्वपूर्ण चक्रों को जगाना है| इसके अलावा यह मुद्रा मन को शांत रखने, तनाव दूर करने और आंखों के आसपास की मांसपेशियों में खिंचाव रखने में मदद करती है| Dark Circles Around Eyes से निजात पाने के लिए यह भी एक बेहतर उपाय है|

शाम्भवी  मुद्रा को भगवान शिव की मुद्रा कहा जाता है| इस मुद्रा को करते वक्त आपकी दोनो आँखे ऊपर मस्तिष्क में चढ़ जाती है जिसके चलते आपको दिव्य प्रकाश के दर्शन भी होने लगते है। इस मुद्रा को करने की दो विधिया होती है जिसमे से हम आपको एक विधि बता रहे है|

विधि:

इसके लिए आपके पास श्री यन्त्र होना जरुरी है| सबसे पहले आप श्री यन्त्र को ध्यान पूर्वक अन्दर की तरफ देखें। श्री यन्त्र के ऊपरी भाग पर त्रिकोण बना हुआ होता है। आपको धारणा करना है कि श्री यन्त्र आप के सिर के ऊपर बायें से दाये घूम रहा है।

त्रिकोण मे तीन रेखाए है पहली रेखा को देखते हुए जाप करें।

  • का ऐ ई ला हरीम्
  • फिर दूसरी रेखा को देखते हुए जाप करे
  • हा सा का हा ला हरीम्
  • फिर तीसरी रेखा को देखते हए जाप करे
  • सा का ला हरीम्

यह विधि बहुत ही ज्यादा उत्तम हैं| आपको बता दे की इस विधि से शाम्भवी तो सिद्ध होती ही हैं साथ ही साथ इसे करने से आपको श्री विद्या साधना का फल भी प्राप्त होने लगता है|

ऊपर आपने जाना Yoga for Dark Circles in Hindi. ऊपर दिए गए योग आसनों की मदद से आप आँखों के निचे के काले घेरो को दूर कर सकते है| इन योग क्रियाओ के साथ साथ आप कुछ घरेलू उपचारों की मदद भी ले सकती है| जैसे आँखों पर ठन्डे खीरे के स्लाइस रखने से भी थोडा फरक पढता है| साथ ही साथ भरपूर रूप से पानी भी पिए|
 

Related Post

Supta Baddha Konasana – मांसपेशियों में तनाव... सुप्त बंध कोणासन एक बहुत ही आरामदायक योग आसन है। यह एक रेस्टोरेटिव पोज़ होता है जो शरीर, मन और आत्मा को आराम देता है। यह आसन थकान, चिंता और अनिद्रा को ...
शरीर को स्वस्थ बनाने में सहायक है योग मुद्राए, विध... खुद को स्वस्थ रखने के लिए योग से बेहतर कुछ भी नहीं है| यह बिना किसी व्यय के आपको कई सारी शारीरक और मानसिक परिस्तिथियों से निजात दिलाता है| यह एक प्राच...
Karnapidasana: कान और पेट के रोगों को दूर करने में... कर्णपीड़ासन को इयर प्रेशर पोज़ और नी टु इयर पोज़ भी कहा जाता है। कर्णपीड़ासन को कान के दबाव की मुद्रा के रूप में भी जाना जाता है। यह योग मुद्रा हलासन के...
Urdhva Padmasana: पाचन सुधारे, माइग्रेन में भी सहा... ऊर्ध्व पद्मासन को लोटस इन हेड स्टैंड और अपवर्ड लोटस पोस्चर भी कहा जाता है। ऊर्ध्व पद्मासन दो शब्दों से मिलकर बना है ऊर्ध्व और पद्म। ऊर्ध्व अर्थात ओर ग...
वरुण मुद्रा – आपके शरीर में जल तत्व को संतुल... हमें जीने के लिए जल बहुत जरुरी है| व्यक्ति भले ही कुछ दिन के लिए खाना छोड़ दे तो भी रह सकता है, लेकिन जल के बिना तो दो दिन भी रहना मुश्किल है| इससे ही ...
गोमुखासन: मधुमेह और स्त्री रोग में फायदेमंद योग... अब आप सभी इस बात से तो भलीभांति परिचित हो चुके होंगे की योग स्वास्थ्य के लिए कितना फायदेमंद है| यह आपको कई तरह की बीमारियों से निजात दिलाने में मदद कर...

You may also like...