Yoga for Eating Disorder: इन आसनो के माध्यम से दूर करे इटिंग डिसऑर्ड

हम जानते है की एक अच्छे स्वस्थ शरीर के लिए भोजन बहुत ही आवश्यक होता है। परन्तु ज्यादा खाना जिस प्रकार सेहत के लिए अच्छा नहीं होता है ठीक उसी प्रकार कम खाना भी स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है।

कम खाना खाने से भी शरीर कई बीमारियों से ग्रसित हो जाता है। कम खाना खाने से एनोरेक्सिया नर्वोसा जैसी बीमारियां होने का खतरा रहता है। इस तरह की बीमारी में व्यक्ति को हमेशा ऐसा लगता रहता है की उसके खाना खा लेने से उसका वजन ज्यादा बढ़ जायेगा। जिस कारण वह खाने से दूर भागने लगता है।

एनोरेक्सिया नर्वोसा जैसी बिमारियों से बचने के लिए योग का अभ्यास करना उत्तम होता है। साथ ही योग आपको अन्य बीमारियों से भी दूर रखने में मदद करता है।

इटिंग डिसऑर्डर से निजात पाने के लिए कई प्रकार के योग किये जा सकते है। जानते है Yoga for Eating Disorders कौन कौन से होते है।

Yoga for Eating Disorders: जानिए इटिंग डिसऑर्डर के लिए लाभकारी आसन

Yoga for Eating Disorder in Hindi

हलासन

  • हलासन को plow pose भी कहते हैं, यह एक लोकप्रिय योग मुद्रा है।
  • हलासन पाचन समस्याओं को हल करने में मदद करता है, साथ ही भूख को भी बढ़ाता है।
  • हलासन उन आसनों में से एक होता है जो इटिंग डिसऑर्डर जैसी समस्याओं से निबटने में मदद करता है।
  • यह पेट में जमी हुयी चर्बी को भी कम करने का कार्य करता है।

शीर्षासन

  • शीर्षासन को Headstand Pose के नाम से भी जाना जाता है। यह योग सभी योगों का राजा कहलाता है।
  • इस आसन को करना थोड़ा कठिन होता है परन्तु यह असाध्य से बीमारियों को दूर करने में सहायक होता है।
  • यह अपच, कब्ज जैसी कई समस्याओं को दूर करने में मदद करता है।
  • यहां तक कि आपको इसके जरिये खाने के विकारों को दूर करने में मदद मिलती है।

ताड़ासन

  • ताड़ासन को अंग्रेजी में Mountain Pose कहते है।
  • इटिंग डिसऑर्डर को दूर करने के लिए यह सबसे आसान योग होता है।
  • इसके अतिरिक्त इस योग के द्वारा ऊर्जा प्रदान करने, शरीर संतुलन में सुधार करने में भी सहायता मिलती है।
  • यह तनाव और चिंता को भी दूर करता है, जिसके कारण इटिंग डिसऑर्डर की समस्या उत्पन्न होती है।

कपोतासन

  • कपोतासन को pigeon pose भी कहते है, क्योंकि इसे करने पर शरीर का आकर कबूतर की तरह हो जाता है।
  • कपोतासन खाने के विकारों को दूर करने के साथ साथ भूख को बढ़ावा देने में भी मदद करता है।
  • यह आसन पेट के फैट को कम करने और शरीर को सुडौल बनाने में मदद करता है, साथ ही पाचन क्रिया को भी मजबूत करता है।

धनुरासन

  • धनुरासन Bow pose के रूप में भी जाना जाता है।
  • धनुरासन इटिंग डिसऑर्डर को कम करने में मदद करता है।
  • इस आसन में शरीर की स्थिति धनुष से समान होती है।
  • इस आसन को नियमित रूप से करने पर पाचन क्रिया सुचारु रूप से चलती है।

Related Post

लकवे के लिए योग – शारीरिक गतिविधियों में सुधार लाय... लकवा याने की Paralysis एक गंभीर बीमारी है| इसे कई लोग पक्षाघात रोग के नाम से भी जानते है| इसमें शरीर का कोई विशेष हिस्सा या फिर कहे की आधा शरीर निष्क्...
योगा के लिए नए है तो ध्यान रखें ये जरुरी बातें... योग एक आध्यात्मिक प्रकिया है| इस प्रक्रिया में शरीर, मन और आत्मा को एक साथ किया जाता है| यह एक चिकित्सा है जिससे शारारिक और मानसिक लाभ मिलते है| योग म...
Yoga for Blood Circulation: रक्त संचार को सुचारु क... पूरे शरीर को ठीक से कार्य करने के लिए रक्त संचार का सही होना जरूरी है। इसके चलते आपके शरीर के सारे अंग ठीक से कार्य कर पाते हैं और शरीर का तापमान भी न...
पेट की चर्बी घटाने और गर्भावस्था में फायदेमंद मार्... आधुनिक युग में हमारा जीवन बहुत ही अस्त व्यस्त होता जा रहा है| जिसका सीधा असर हमारे शरीर पर पड़ रहा है| दिनभर की भाग दौड़ में हम अपने शरीर पर ध्यान देना ...
दौड़ने (रनिंग) की क्षमता बढाता है योग का अभ्यास... जब भी कोई फिट शरीर चाहता है तो बहुत ही कम लोग है जो जीम जाने का सोचते है| क्योकि हर कोई जीम में व्यायाम नहीं कर सकता| इसलिए बहुत से लोग सोचते है क्यों...
बिजी लाइफस्टाइल? घर पर योग करने के लिए जानिए यह टि... योग के फायदों से अब हर कोई परिचित हो चूका है, इसलिए हर व्यक्ति इसे करके इसका लाभ उठाना चाहता है| योग के अभ्यास से आप ना केवल कई बीमारियों से निजात पा ...

You may also like...