इन योग आसनो की मदद से शरीर का लचीलापन बढ़ाये

comment 1

बहुत से लोग अपनी दैनिक दिनचर्या में व्यायाम करते है| यदि आप उनसे यह पूछेंगे की वे व्यायाम क्यों कर रहे है तो अधिकतर लोगो का यही जवाब होगा की, फिट रहने के लिए और व्यायाम करने से उन्हें अच्छा महसूस होता है| बहुत ही कम या कहे की ना के बराबर ही ऐसे लोग होंगे जो शरीर का लचीलापन बढ़ाने के लिए व्यायाम करते है|

लेकिन यदि आपका शरीर लचीला है तो यह आपके स्वास्थ्य को बनाए रखने, चोट से बचाए रखने (खासकर बढ़ती उम्र में) आपकी मदद करता है| योग आपके शरीर में लचीलापन बनाए रखने का सबसे शानदार तरीका है।

योग के दौरान शरीर में आने वाला खिंचाव, आपके शरीर में लचीलापन लाता है| कुछ लोगो को यह ग़लतफहमी रहती है की योग करने के लिए आपके शरीर पहले से ही लचीला होना चाहिए, लेकिन यह वास्तविकता नहीं है| सच बिलकुल विपरीत है| नियमित रूप से योग करना शरीर को लचीला बनाने का एक निश्चित तरीका है। आइये जानते है Yoga for Flexibility in Hindi.

Yoga for Flexibility in Hindi – लचीलापन बढ़ाने में मददगार

Yoga for Flexibility in Hindi

निचे हम आपको लचीलेपन को बढ़ाने के लिए कुछ योगा पोसेस के बारे में बता रहे है| जिन्हे आप रोज घर पर कर सकते है|

Cobra Pose – भुजंगासन

पीठ दर्द से परेशान लोगो के लिए इसे सबसे फायदेमंद आसन मान जाता है| इस आसन को करते वक्त शरीर की स्तिथि फन उठाए हुएँ साँप की भाँति प्रतीत होता है, इसलिए इसे भुजंगासन कहा जाता  है|

इसे करने के लिए सर्वप्रथम ज़मीन पर पेट के बल लेट जाएँ और मस्तक ज़मीन पे सीधा रखें| इस वक्त आपके पैर और एड़िया एकदम सीधी होना चाहिए| आपके दोनों हाथ, दोनों कंधो के बराबर नीचें रखे तथा दोनों कोहनियों को शरीर के समीप और समानान्तर रखें|

अब श्वास लेते हुए धीरे से मस्तक, फिर छाती और बाद में पेट को ऊपर की और उठाये उठाएँl किन्तु आपकी नाभि ज़मीन पर ही होना चाहिए| दोनों का सहारा लेकर शरीर को ऊपर की और उठाये और इस वक्त आपकी दोनों बाजुओं पर एक समान भार होना चाहिए|

अब अपने रीड़ के जोड़ को धीरे धीरे औरअधिक मोड़ते हुए दोनों हाथों को सीध में करले और गर्दन उठाते हुए ऊपर की ओर देखें| आपको अपने कंधो को शिथिल रखना है| आवश्यकता हो तो कोहनियों को मोड़ भी सकते हैं| अपनी क्षमतानुसार ही शरीर को तानें, बहुत ज़्यादा मोड़ने पर जोर ना दे| श्वास छोड़ते हुए प्रथम: पेट, फिर छाती और बाद में सिर को धीरे से वापस ज़मीन ले आयें| यह एक फायदेमंद Yoga for Strength and Flexibility हैं|

Triangle Pose – त्रिकोणासन

अपने कमर और पेट को लचीला बनाने के लिए त्रिकोणासन सबसे अच्छा योग का आसन है| इसे करने के लिए सबसे पहले किसी समतल जगह का चुनाव करे| अब दोनों पैरों को दो फुट की दूरी पर रखकर, सीधे खड़े रहे| इसके पश्चात अपने हाथो की कन्धों के समानांतर फैलाए, आपकी भुजाएं भी जमीन के समरेखा में होनी चाहिए|

अब धीरे-धीरे दाए तरफ झुकें| इस वक्त आपका बाया घुटना सीधा और तना हुआ होना चाहिए| इसके पश्चात आपके दाए पैर के अंगूठे को दाए हाथ की उँगलियों से छूने की कोशिश करे| गर्दन को थोडा-सा दाए ओर झुकायें| आपकी बाए हाथ कि भुजा इस वक्त ऊपर की और होगी| इस स्थिति में 2-3 मिनट रहें व धीरे-धीरे सांस लें| यह प्रक्रिया दोनों हाथो के साथ करे|

आप यह भी पढ़ सकते है:- शारीरिक और आध्यात्मिक दोनों रूपों में लाभकारी है उड्डीयान बंध

बंध कोणासन – Bound Angle “Butterfly

हिप्स में लचीलापन लाना थोड़ा सा मुश्किल होता है, क्योकि इसके छोटे से छेत्र में बहुत सारी मांसपेशिया होती है| इस भाग को लचीला बनाने के लिए बंध कोणासन सबसे अच्छा आसन है|

इस आसन को करने के लिए सबसे पहले दोनों पैरों को सामने सीधे रखते हुए दंडासन की मुद्रा में बैठ जाएं| आसन को करने के लिए समतल और साफ़ सुथरे जगह का चयन करे| बैठने के पश्चात आपका मेरूदंड बिलकुल सीधा होना चाहिए| अब श्वास को छोड़ते हुए दोनों पैरों के घुटनों को मोड़ते हुए पैरों के तलवों को एक-दूसरे से मिला दें| अर्थात जिस तरह आप हाथो से प्रणाम करते है वैसा आपको पैरो से करना है|

अब दोनों हाथों की सभी अंगुलियों को एक-दूसरे से मिलाकर ग्रीप बनाएं तथा पैरों के पंजों को उसमें रखकर दबाएं। अब मेरूदंड और कंधे को सीधा रखते हुए धीरे-धीरे आगे झुकें और ठोड़ी को भूमि पर टिका दें। इस वक्त श्वास को छोड़ना है| कुछ सेकंड तक इसी मुद्रा में बने रहे फिर श्वास लेते हुए पुन: पहले की स्थिति में आ जाएं।

ऊपर आपने जाना Yoga for Flexibility in Hindi. योग के किसी भी आसन को करने की जल्दबाजी ना करे| इसे आराम से करे, शुरुआत में आपको समस्या होगी, किन्तु धीरे धीरे आप इसे करना सिख जायेंगे| रात भर में बदलाव की उम्मीद ना करे| नियमित तौर पर इसे करने से धीरे धीरे आपका शरीर लचीला बन जायेगा|

Related Post