जानिए शरीर को मजबूत बनाने वाले कुछ आसान योग आसन

हम अक्सर यह देखते आ रहे है की कुछ लोग बहुत जल्दी बीमार हो जाते है| जैसे केवल मौसम के परिवर्तन से, रोज से ज्यादा काम करने से या फिर कुछ लोग केवल बाहर का खाना खा ले, उसमे ही बीमार पड़ जाते है| वही कुछ लोग कैसी भी परिस्तिथि आ जाये हट्टे कट्टे रहते है| इसके पीछे का कारण उनकी सहन क्षमता, उनके शरीर की ताकत है|

दरहसल जो लोग कमजोर होते है उन्हें हर चीज़ बहुत जल्दी असर करती है| उनका शरीर कीटाणु या तापमान से लड़ने की ताकत नहीं रखता है| परिणाम स्वरुप वे लोग बहुत जल्द बीमार हो जाते है|

शरीर के ताकतवर होने से हम ना केवल अपने स्वास्थ्य को अच्छा रख पाते है| बल्कि इससे हम कुछ सामाजिक परिस्थितियों से लड़ने की क्षमता भी रखते है| एक ताकतवर शरीर को अच्छे खान पान के अलावा भी और चीज़े चाहिए जैसे की योग का अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में अभ्यास|

योग आपको तन-मन से धनी बनाता है| इसे करने से जल्दी बुढ़ापा नहीं आता है| तो आइये आज के लेख में हम जानते है Yoga for Strength in Hindi, और बनाते है हमारे शरीर को मजबूत|

Yoga for Strength in Hindi – मजबूत शरीर के लिए

Yoga for Strength in Hindi

वीरभद्रासन

यदि हम ताकतवर भी बन जाये और कॉंफिडेंट भी बन जाये, तो फिर तो हम अपने जीवन में बहुत ही उन्नति कर सकते है| हम आपको बता दे की वीरभद्रासन इसमें आपकी मदद कर सकता है| इससे आपकी भुजाये मजबूत बनती है साथ ही यह ह्रदय के स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा है| आइये जानते है इसे करने की विधि क्या है:-

  1. वीरभद्र आसन करने के लिए सबसे पहले किसी समतल और स्वच्छ जगह का चुनाव करे|
  2. इसके बाद सीधा तन कर सावधान की मुद्रा में खड़े हो जाएं|
  3. अब अपने दाएं पैर को 2 से 4 फीट आगे की और ले जाकर रखे|
  4. दाएं पैर को घुटने की तरफ से हल्के से मोड़ें|
  5. लेकिन आपका बायां पैर सीधा होना चाहिए और तलवा ज़मीन से लगा होना चाहिए|
  6. सांस लेते हुए दोनों हाथों को ऊपर की और ले जाये|
  7. आपके दोनों हथेलियों को मिला ले, जिस तरह हम हाथ जोड़ते हुए मिलाते है|
  8. सिर को सीधा रखें औए सामने की और देखे, आपके कंधे भी कान से कुछ दुरी पर होना चाहिए|
  9. इस स्तिथि में 15 से 20 सेकंड्स तक आपको रहना है|
  10. अब सांस को छोड़ते हुए सामान्य स्थिति में आ जाये|

महत्वपूर्ण सुचना: – जिन लोगो को कमर, कंधे या घुटनों में दर्द या किसी अन्य तरह की परेशानी है, उन्हें इस आसन का अभ्यास करने से बचना चाहिए| इस पोज़ में शरीर की आकृति कैसी दिखती है, इसके लिए आप निचे दिए गए चित्र में देख सकते है| Yoga for Strength and Flexibility के लिए यह बहुत अच्छा व्यायाम है|

Virabhadrasana

आप यह भी पढ़ सकते है:- तनाव और चिंता से मुक्ति दिलाने में कारगर है योगासन का अभ्यास 

त्रिकोणासन

त्रिकोणासन जिसे अंग्रेजी में ट्रायंगल पोस कहा जाता है, यह आपकी स्ट्रेंथ बढाने के साथ साथ आपके शरीर को आकर्षक भी बनाता है| यह आपके गर्दन तथा कमर की मांसपेशियों को लचीला बनाता है, जिससे इनमे मजबूती आती है| यह पैरो तथा कुलहो की हड्डियों के लिए भी अच्छा है| यह Yoga for Back Strength बहुत फायदेमंद है| आइये जानते है इसे करने की विधि क्या है:-

  1. त्रिकोण आसन करने के लिए सबसे पहले खड़े हो जाये और अपने पैरो को दूर दूर रखे|
  2. इसके बाद अपने दोनों हाथों को ऊपर की और उठा लें।
  3. इसके बाद लंबी गहरी सांस लेटे हुए और छोड़ते हुए कमर को बाई और झुखाये|
  4. उल्टे हाथ से सीधे पैर के पंजे को छूने की कोशिस करे और सीधा हाथ ऊपर की और उठाये|
  5. अब अपनी गर्दन को ऊपर की तरफ घुमाकर, ऊपर वाले सीधे हाथ की ओर देखें।
  6. आपको सांस की गति सामान्य ही रखना है|
  7. इस आसन का अभ्यास अब दुसरे तरफ अर्थात दाया हाथ निचे और बाया हाथ ऊपर करे|
  8. इस आसन का अभ्यास 4 से 5 बार करे|

महत्वपूर्ण सुचना: – इस आसन को झटके के साथ ना करे, जितना आपसे हो पाए उतना ही करे| इसके अतिरिक्त शरीर में किसी तरह का दर्द जैसे घुटनों का दर्द, गर्दन में दर्द आदि हो तो इस आसन को ना करे| इस आसन को करते वक्त शरीर की मुद्रा कैसी दिखती है, इसके लिए निचे दिए गए चित्र को देखे|

Trikonasana

ऊपर आपने जाना Yoga for Strength in Hindi. इन दोनों के अलावा और भी कई आसन है जो आपके शरीर को मजबूत बनाते है जैसे की सर्पासन, मयूरासन, कुर्सी योग आदि| इन सभी आसनों की खासियत यह है की यह आपको अन्दर से और बाहर से दोनों तरफ से मजबूत बनाते है|

You may also like...