Yoga For Tummy And Hips And Thighs: योग से करे पेट, जांघ और हिप्स का फैट कम

वज़न को कम करने के लिए योग एक सर्वोत्तम और सरल तरीका है। योग के बारे में सबसे अच्छी बात यह है कि इसे किसी भी उम्र का व्यक्ति कर सकता है क्योंकि यह किसी भी आयु के व्यक्ति के लिए समान रूप से अच्छा है।

यहां तक कि गर्भवती महिलाओं को भी योग करने की सलाह दी जाती है। हालांकि इस समय चिकित्सक की सलाह लेकर ही योग करना चाहिए और बहुत ही सावधानी बरतनी चाहिए।

जैसा की हम सभी जानते है की तनाव वजन बढ़ाने के साथ साथ कई स्वास्थ्य समस्याओं को जनम देता है। योग तनाव दूर करने के लिए एक अच्छा उपाय माना जाता है। यह ना केवल आपको आकार में आने में मदद करेगा, बल्कि कुछ बीमारियों के जोखिम को भी कम करेगा।

हम आपको बताना चाहते है की वजन घटाने से ना आप अच्छा महसूस करते है बल्कि आपको तनाव कम करने में भी मदद मिलती है। आजकल लोगो का ज्यादातर कार्य बैठकर करने का है जिससे शरीर के कुछ हिस्सों पर ज्यादा चर्बी जमती है। इसलिए आज के लेख में हम आपको Yoga For Tummy And Hips And Thighs बता रहे है।

Yoga For Tummy And Hips And Thighs: जानिए चर्बी घटाने के सरल व प्रभावी योगासन

Yoga for Tummy and Hips and Thighs

ब्रिज पोज़ (सेतुबंधासन)

  • यह एक बहुत ही प्रभावी योग मुद्रा है जो पेट को सपाट बनाने में मदद करती है।
  • इस आसान की मदद से पेट की सभी मांसपेशियां पहले से ज्यादा मजबूत बन कर सामने आती है।
  • साथ ही यह हिप फ्लेक्सर्स और रीढ़ की हड्डी को भी मजबूत बनाने का कार्य करती है।
  • गर्भवती महिलाएं इस आसन का अभ्यास ना करें, अगर करना भी हो तो वे इसका अभ्यास किसी योग विशेषज्ञों की देख रेख में हीं करें।
  • यह Yoga for Flat Tummy के नाम से भी प्रसिद्ध है।

कोबरा पोज़ (भुजंगासन)

  • यह योग मुद्रा खासतौर तौर पर नितंबों को सिकोड़ने और पेट को टोन करने के लिए की जाती है।
  • साथ ही यह पीठ के दर्द की समस्या से निजात प्राप्त करने के लिए भी बहुत फ़ायदेमंद होता है।
  • पूरा दिन एक अवस्था में बैठ कर कार्य करते रहने वाले लोगों को पेट तथा कमर के पास बहुत ज्यादा मोटापा बढ़ जाता है।
  • ऐसे लोग अगर रोज़ाना नियमित तौर पर भुजंगआसन का अभ्यास करें तो इससे तेजी से इन अंगों की चर्बी कम होने लगेगी।

रिवोल्वड ट्रेंगल पोज़ (परिवृत्त त्रिकोणासन)

  • यह एक स्टैंडिंग और ट्विस्ट योगा पोज़ होता है।
  • इसका अभ्यास करने से विशेषकर कूल्हों तथा रीढ़ की हड्डी में बहुत ज्यादा खिचाव आता है।
  • इस आसन के नियमित अभ्यास से पेट, जांघों, हिप्स और कमर सभी की चर्बी कम होने में मदद मिलती है।

ग्राइंडिंग पोज़ (चक्की चलनासन)

  • इस आसान के अभ्यास से एक साथ पीठ, पेट तथा बाजुओं की मांसपेशियों का बहुत अच्छा व्यायाम हो जाता है।
  • यह आसन पेट का वसा कम करने के लिए बहुत ही ज्यादा फ़ायदेमंद आसन माना जाता है।
  • इसमें आपको अपने शरीर को ठीक वैसा ही करना होता है जैसे आप हाथ वाली चक्की से आटा पीस रहे हो।
  • रोजाना इसके 10 सेट घड़ी की दिशा में करे और 10 सेट घड़ी की उलटी दिशा में करे।
  • गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के पेट के आसपास के हिस्सों में जमा फैट को घटाने में भी यह आसान बहुत कारगर होता है ।

एक्सटेंडेड साइड एंगल पोज़ (उत्थिष्ठ पार्श्व कोणासन)

  • यह एक स्टैंडिंग पोज़ है जिसका अभ्यास करते वक्त शरीर की सभी मुख्य मांसपेशी का व्यायाम होता है।
  • उत्थिष्ठ पार्श्व कोणासन के अभ्यास से आपकी कमर, पेट, हिप्स और जांघों से अतिरिक्त चर्बी कम होती है।
  • इसके अलावा गठिया के दर्द से निजात पाने के लिए भी इस आसन का अभ्यास करना लाभकारी माना जाता है।

चेयर पोज (उत्कटासन)

  • उत्कटासन के अभ्यास में शारीरिक अवस्था कुर्सी के जैसी नजर आने लगती है इसीलिए इसे चेयर पोज भी कहते हैं।
  • यह आसान ख़ास कर के पेट के लिये बहुत अधिक फ़ायदेमंद होता है और इससे आपको अपच, कब्ज तथा एसिडिटी जैसी सभी पेट सम्बंधित समस्या से आराम मिल जाता है।
  • इस आसन का नियमित अभ्यास करने से पूरे बूढ़ी में स्फूर्ति तथा एनर्जी बढ़ जाती है। इसके अलावा इससे पैरों की सभी मासपेशियां ताक़तवर बनती है।
  • मांसपेशियों में आये खिंचाव से पेट तथा जांघो और हिप्स की चर्बी में कमी आती है। यह Yoga to Reduce Hips के लिए बहुत फायदेमंद है।

वॉरईयर पोज़ (वीरभद्रासन)

  • इस आसन का नामाकरण भगवान शंकर के एक अवतार, वीरभद्र जो की एक अभय योद्धा थें के नाम पर पड़ा है।
  • यह आसन ख़ास कर के हाथों, कंधो, जांघो तथा कमर की सभी मांसपेशियों को ताक़त देने का काम करती है।
  • बहुत देर तक एक अवस्था में बैठ कर काम करने वाले व्यक्तियों के लिए यह एक बेहद लाभकारी आसान है।
  • इसके अभ्यास से जाँघों तथा कमर के हिस्सों में मौजूद चर्बी को दूर करने में मदद मिलती है।

हैप्पी बेबी पोज़ (आनंद बालासन)

  • इस आसन को लोग हैप्पी बेबी पोज़ के नाम से भी जानते हैं क्योंकि इस आसान के अभ्यास के दौरान साधक की शारीरिक अवस्था एक बच्चे के जैसी नजर आती है।
  • कमर के निचले हिस्से के व्यायाम के लिए यह आसान सबसे अच्छा माना जाता है।
  • इसके अभ्यास से शरीर के निचले हिस्से की सभी मांसपेशियों का एक्सरसाइज हो जाता है।
  • इस आसन के मदद से कूल्हों और जाँघों पर जमा चर्बी को घटाने में मदद मिलती है। अतः हम कह सकते हैं की यह एक अच्छा Yoga for Hips तथा Yoga for Thighs है।

डॉग पोज (अधोमुख श्वानासन)

  • अधोमुख श्वानासन कुछ संस्कृत शब्द से मिलकर बना है जिसमे अधो का मतलब आगे, मुख का मतलब चेहरा, श्वान का मतलब कुत्ता तथा आसन का मदलब मुद्रा होता है।
  • इस आसन में ऐसी मुद्रा बनाई जाती है जिसमे एक कुत्ता झुका हुआ नजर आता है।
  • इस आसन का अभ्यास शरीर को एनर्जी प्रदान करता है और आपको हमेशा फ्रेश बनाये रखता है।
  • यह ख़ास कर के हाँथ, कण्ठे तथा पैरों की मांसपेशियों के लिए बहुत लाभकारी होता है।
  • इसके अभ्यास से पैरों में कूल्हों और जांघों की चर्बी घटाने में मदद मिलती है।

आज के इस लेख में आपने Yoga for Hips and Thighs के साथ साथ Yoga for Tummy के बारे में जाना। लेख में बताये गए सभी आसनों के नियमित अभ्यास से आप अपने पेट, कूल्हों तथा जाँघों में जमा फैट को आसानी से कम करने में सफलता प्राप्त कर सकेंगे।

You may also like...