महिलाओं के लिए योग विधि और उनसे होने वाले लाभ

comment 0

कई तरह के वैज्ञानिक और चिकित्सीय सुविधाओ के बावजूद मनुष्य का शरीर किसी न किसी दर्द से परेशान है| खासकर महिलाये, जिन्हे आजकल अत्यधिक कार्य का भार उठाना पड़ रहा है| घर परिवार की जिम्मेदारिओं के साथ साथ, अपने ऑफिस और बिज़नेस के कार्य भी सम्हालने पड़ते है| जिसका परिणाम है मानसिक तनाव और शारीरिक कमजोरी, जिससे आज महिला वर्ग को गुजरना पड़ रहा है|

स्त्री हो या पुरुष योग सभी के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है यह अच्छे स्वास्थ्य और अच्छे जीवन की आधारशिला है| ऋषि मुनियो के अनुसार, योग मनुष्य जाति के सभी तरह के दुखों को हरने की क्षमता रखता है| योग के नियमित अभ्यास से शारीरिक, मानसिक, आध्यात्मिक और भावात्मक विकास मनुष्य के शरीर में होता है|

Yoga for Women in Hindi के जरिये शारीरिक और मानसिक विकास के साथ साथ आंतरिक अंगो में होने वाली कई बीमारियो से भी छुटकारा मिलता है| योग महिलाओ के लिए बहुत अच्छा व्यायाम है| बहुत सी ऐसी परेशानिया है जिनसे महिलाओ को जूझना पड़ता है जैसे मासिक धर्म, प्रजनन से सम्बंधित समस्या या हॉर्मोन्स से जुडी कोई परेशानी| योग एक ऐसी अद्भुत देन है जिससे हम इन सभी बिमारिओ से बच सकते है|

Yoga for Women in Hindi: महिलाओं के लिए योग

Yoga for Women in Hindi

नौका संचालन और चक्की चलाना ये दोनों ही आसन महिलाओं के लिए बहुत ही लाभप्रद है| महिलाओ के गर्भवती होने के पहले और बाद में यह आसन उनके स्वस्थ्य में अहम भूमिका निभाता है| नौका संचालन और चक्की चलाना ये दोनों ही आसन महिलाओं के लिए बहुत ही लाभप्रद है| महिलाओ के गर्भवती होने के पहले और बाद में यह आसन उनके स्वास्थ्य में अहम भूमिका निभाता है| इसे करने से पेट की चर्बी तो कम होती है ही साथ ही साइटिका के निवारण में भी फायदेमंद होता है|

ऐसे ही कई योगासन है जो महिलाओं के लिए लाभकारी होते है| आइये विस्तार से जानते है इन mahilaon ke liye yog को करने की विधि और लाभ –

नौका संचालन आसन    

पेरो को सामने की और फैलाकर बैठ जाइये और अपने शरीर को नौका चलाने के अंदाज़ में संचालित कीजिये| जितना संभव हो सके आगे पीछे शरीर को झुकाएं| इस तरह से कम से कम 10 से 12 बार करें| यह आसन करते समय पहले विशेषज्ञों की राय अवश्य ले|

इस आसन को करने से पेट के सभी अंगो और मांसपेशियों की मालिश होती है तथा कब्ज भी ठीक रहता है| पहले तीन महीनों वाली गर्भवती महिलाओ के लिए यह लाभदायक है|

चक्की चलाना आसन

पैरों को फैला कर बैठ जाये तथा हाथो को सामने की ओर सीधा करते हुए अंगुलियों को एक दूसरे में फंसा लें| कमर को झुकाते हुए हाथो को इस प्रकार चलाये की आप चक्की चला रहे है| ऐसा आप दोनों तरफ से 10-10 बार करें|

साइटिका के निवारण के लिए यह एक अच्छा आसन है| लगातार अभ्यास से पेट की चर्बी कम होती है| कमर और छाती के लिए भी यह फायदा पहुंचाता है|

आप यह भी पढ़ सकते है:- योग के द्वारा गठिया के दर्द में राहत पाएं

रज मुद्रा योग

छोटी ऊँगली को हथेली की जड़ में मोड़कर लगाने से रज मुद्रा बन जाती है| बाकि तीनों उंगलियो को सीधा रखें|

इस योग के अभ्यास से मासिक धर्म में होने वाली परेशानियों से मुक्ति मिलती है| स्त्री के प्रजनन अंगो में आने वाली समस्याओं को यह मुद्रा दूर कर देती है| इसके अलावा सिर का भारीपन, छाती, पेट, पीठ और कमर के दर्द जैसे रोगो में भी आराम मिलता है| इस मुद्रा को करने से पुरुषो में होने वाली वीर्य संबंधी समस्या भी समाप्त हो जाती है|

सूर्य नमस्कार

अगर महिलाएं अपने लिए ज्यादा समय नहीं निकल पाती है और योगासन को भी कम समय देना चाहती है तो सूर्य नमस्कार की 12 विधियों को करना भी लाभप्रद होता है| इससे आपके शरीर का व्यायाम भी हो जाता है और मानसिक थकान भी दूर हो जाती है साथ ही आप तरोताज़ा महसूस करते है|

यह सच है कि हमारा जीवन बहुत सी जिम्मेदारिओं से घिरा रहता है| परन्तु समय-समय पर अपनी शारीरिक जरुरतो का आंकलन करना भी जरुरी है| अगर हम स्वस्थ और निरोग रहेंगे तभी तो अपनी जिम्मेदारिओं को अच्छे से निभा पाएंगे|

आप भी इन Yoga for Women in Hindi को अपनाकर अपने शारीरिक स्वास्थ्य का ध्यान रखें| लेकिन किसी भी तरह के योगा को करने से पहले विशेषज्ञों से उनकी राय और सलाह जरूर लेवें साथ ही योगाचार्य के सानिध्य में ही योग आसनों को करें|

Related Post