तनाव और थकान से निजात दिलाने में फायदेमंद है योग निद्रा

तनाव, आजकल की जिंदगी का आम हिस्सा बन गया है| बड़े ही नहीं अब तो बच्चे भी तनाव से घिरे नजर आते है| तनाव के चलते कई समस्याए जन्म लेती है जैसे अवसाद, मोटापा, रक्तचाप आदि| यह कई बीमारियों की जननी है| वैसे तो थोडा बहुत तनाव सबको होता है और यह सामान्य है| लेकिन अधिक तनाव करने से हमारे स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है|

योग निद्रा की मदद से तनाव जैसी चीजों को ख़तम किया जा सकता है| इसे करने से व्यक्ति पूरा दिन तरोताजा और तनाव मुक्त महसूस करता है| यदि हम योग निद्रा की बात करे तो इसका अर्थ होता है आध्यात्मिक नींद| यह सोने और जागने के बिच की स्तिथि है अर्थात इसमें व्यक्ति जागते हुए सोता है|

यदि आप इसे करने का सोच रहे है तो हम आपको सलाह देंगे की इसे किसी योग गुरु के देखरेख में ही करे| इससे आपको इसे करने का अच्छा फायदा मिलेगा| आइये आज के लेख में विस्तार से जानते है Yoga Nidra in Hindi.

Yoga Nidra in Hindi: जाने योग निद्रा की सम्पूर्ण जानकारी

Yoga Nidra in Hindi

हम आपको बताना चाहते की देवता, योग निद्रा में ही सोते है| यह झपकी जैसा है अर्थात आप इसे इसे स्वप्न और जागरण के बीच की ही स्थिति मान सकते हैं। यह तनाव को दूर करने में बहुत सहायक है| राज योग में योग निद्रा को प्रत्याहार कहा गया है| जो लोग इसका नियमित अभ्यास करते है वे लोग आध्यात्मिक लाभ भी प्राप्त कर सकते है|

Yoga Nidra Benefits: योग निद्रा के फायदे

  1. योग निद्रा का अभ्यास आपकी नींद की कमी को पूरा कर देता है|
  2. इसे करने से कई बुरी आदतों से छुटकारा पाया जा सकता है|
  3. इससे शरीर का दर्द जैसे कमर दर्द, जोड़ों का दर्द, सिरदर्द आदि से निजात मिलती है|
  4. जो लोग योग निद्रा का अभ्यास करते है उनका शरीर व मस्तिष्क स्वस्थ रहता है| उनमे एकाग्रता आती है|
  5. योगनिद्रा लें और दिनभर तरोताजा रहें। प्रारंभ में यह किसी योग विशेषज्ञ से सीखकर करें तो अधिक लाभ होगा।
  6. रक्तचाप और मधुमेह के रोगियों को भी इसे करने से फायदा मिलता है|
  7. यह आपके शरीर को विश्राम देकर इसे शिथिल करती है|
  8. कई प्रकार के रोंग में Yoga Nidra Technique चमत्कारी औषधी की तरह काम करती है|
आप यह भी पड़ सकते है:- दौड़ने (रनिंग) की क्षमता बढाता है योग का अभ्यास

योग निद्रा करने के तरीके

  • सबसे पहले तो एक साफ़ जगह पर दरी बिछाकर उस पर चटाई या कम्बल बिछा ले।
  • योग निद्रा करने के लिए ढीले कपड़े का चुनाव करे।
  • अब चटाई पर शवासन की स्थिति में लेट जाये|
  • जमीन पर आपके दोनों पैरो के बीच लगभग एक फुट की दूरी होना चाहिए|
  • अपनी आँखे बंद रखे, और हथेली को कमर से छह इंच की दूरी पर रखे|
  • अब सिर से लेकर पांव तक अपने पूरे शरीर को पूर्णत: शिथिल कर दे|
  • इस वक्त मन में किसी भी तरह का तनाव ना रखे, सांस लेना व छोड़ना जारी रखें।
  • अब सोचे कि आप के हाथ, पैर, आँखे, गर्दन सभी शिथिल हो गए है|
  • इसके पश्चात मन में ही खुद से कहे की कि मैं योग निद्रा का अभ्यास करने जा रहा हूं/ रही हूं। ऐसा आप कम से कम तीन बार दोहराएं साथ ही साथ गहरी सांस छोड़ना तथा लेना जारी रखें।
  • आपको अपने मन को शरीर के विभिन्न अंगों पर ले जाना है और उन्हें तनाव रहित करना है|
  • अपने शरीर को आरामदेह और तनावमुक्त स्तिथि में रखें। ऐसा सोचे की संपूर्ण शरीर से दर्द बाहर निकल रहा है और आप बहुत खुश है। इसके बाद गहरी सांस ले।
  • इसके पश्चात अपने मन को सीधे पैर के अंगूठे पर ले जाइए। आपके पांव की सभी अंगुलियां, पांव का तलवा, एड़ी, साथ ही घुटना, जांघ, नितंब, कमर, कंधा शिथिल होता जा रहा है।
  • बस इसी तरह आपको अपने बांये पैर को भी शिथिल करना है| सांस को सहजता से लें व छोड़ें।
  • आपको लेटे लेटे पांच बार पूरी सांस लेना व छोड़ना है।

ऊपर आपने जाना Yoga Nidra in Hindi. आप भी योग निद्रा करके इसका लाभ उठा सकते है| लेकिन एक बात का ख्याल रखे की इसे करते वक्त आप सो ना जाये| इसे करते वक्त साफ़ सुथरी और खुली जगह का चुनाव करे|

You may also like...