Ananda Yoga: मानसिक शांति पाने और जागरूकता बढ़ाने में सहायक

योग का इतिहास 5000 साल पुराना है| यह हमें भौतिक, मानसिक और आध्यात्मिक अनुशासन के द्वारा अनन्त शांति प्राप्त करने की प्रक्रिया से परिचित कराता है|

यह मन तथा आत्मा के साथ शरीर को संयोजित करके रखता है| योग के द्वारा हम विभिन्न श्वास तकनीक, योग आसन (आसन) और ध्यान सीखते हैं। हिंदू धर्म से जैन धर्म तक, प्रत्येक धर्म द्वारा योग की प्रथा की सराहना की गई है।

आज हम आपको आनंद योग के बारे में जानकारी दे रहे है, जो की हठ योग का एक स्वरुप है| यह व्यक्ति में उच्च जागरूकता लाने के लिए पहचाना जाता है|

अनंदा योग की स्थापना क्रियानंदा ने पश्चिम में सबसे पुरानी हठ योग प्रणाली से की थी। इसकी जड़ें 1940/1950 की है। उन्होंने विश्व ब्रदरहुड कालोनियों के विचारो को वास्तविकता का रूप दिया और अनंदा की शुरुवात की|

‘अनंदा योग’ पूरी तरह से क्रिया योग शिक्षाओं पर आधारित है। Ananda Yoga आंतरिक जागरूकता पर जोर देता हैI अनंदा योग आसन और प्राणायाम का उपयोग कर जागृत, अनुभव और सूक्ष्म ऊर्जाको अपने भीतर, विशेषकर चक्रों की ऊर्जा को नियंत्रित करता है।

अनंदा योग – जानिए योग के फायदे व् अन्य जानकारी

अनंदा योग में क्या शामिल है?

अपनी पारंपरिक तकनीकों और अनूठे आसन के साथ, अनंदा योग का दावा है कि वह सबसे ज्यादा मानी जाने वाली योग प्रणाली है जो आपको आध्यात्मिक सारांश के और ले जाती है|

जिस तरह आप विभिन्न योगों का पालन करते हैं उसी तरह इसे करने से यह धीरे-धीरे दिमाग को मजबूत करता है जिससे उच्च स्तर की चेतना उत्पन्न होती है।

इसके अलावा योग के अभ्यास के दौरान शरीर और मन दोनों  आत्मा के अनुरूप काम करना शुरू करते हैं। अनंदा योग के चार महत्वपूर्ण पहलू हैं:-

योग आसन: शुरुआती लोगों के लिए आसन काफी सरल और करने में आसान होते है| हालांकि, अनुभव के साथ चुनौतियों में वृद्धि होती है| कुछ लोकप्रिय और प्रचलित आसनो में शामिल हैं पद्मासना (कमल मुद्रा), भुजंगासन (कोबरा मुद्रा), सलम्बा भुजंगासन (sphinx pose), बालासना (चाइल्ड पोज़), वृक्षासन (वृक्ष मुद्रा) आदि।

प्राणायाम: यह मूल रूप से ‘प्राण’ या सांस का विस्तार है, जो श्वास की तकनीक के साथ-साथ ऊर्जा का संचार करते हैं। प्राणायाम अभ्यास करने का मुख्य उद्देश्य श्वास या जीवन शक्ति को बाहर निकालना हैI

यौगिक ध्यान तकनीक: इन सर्वोच्च ध्यान तकनीकों के साथ, लोगों को उनकी आत्मा और ईश्वर की वास्तविक रूप का अनुभव हो सकता है। कोई भी सभी प्रकार के बोझ से स्वतंत्रता प्राप्त कर सकता हैI

एप्लाइड योग विद्या: यह विद्या हमें अपने बारे में जानने, बाहरी दुनिया से परिचित होने और योग की शिक्षाओं का उपयोग करके परिस्थियों के अनुसार जीवन जीने में मदद करती है।

Ananda Yoga Benefits: जाने इसके फायदे

  • यह रक्त संचार बढ़ाता है और आपके स्वास्थ्य को सुधारने में मदद करता है|
  • आनंद योग आंतरिक जागरूकता और ऊर्जा पर जोर देता है|
  • प्रत्येक आसन का अनुभव आपके अंदर एक उच्च स्तर की चेतना जागृत करता है|
  • इस योगा के द्वारा चेतना को बढ़ाकर मन, शरीर और आत्मा को एकजुट करना ही इसका लक्ष्य होता है।
  • इससे आतंरिक अंगो की मालिश होती है और आपका डाइजेशन सही रहता है और मोटापा नहीं बढ़ता| पाचन संबंधी समस्याओं के लिए आप यह आसन भी देख सकते है|

You may also like...