Difference between Yoga and Exercise: कसरत और योग में है बहुत अंतर

Go to the profile of  Yogkala Hindi
Yogkala Hindi
1 min read
Difference between Yoga and Exercise: कसरत और योग में है बहुत अंतर

बहुत से लोग योग को कसरत का ही हिस्सा मानते है, या फिर कसरत और व्यायाम को ही योग मानते है। इसके अलावा कुछ लोग तो कसरत,योग और व्यायम को एक ही मानते है। आपको बता दे की ये दोनों ही अलग अलग होते है|

हालाँकि ये सही है की दोनों साधनो से शरीर को स्वस्थ रखने में मदद मिलती है। लेकिन जहाँ कसरत से सिर्फ शारीरिक प्रक्रिया होती है वही पर योग करने से शारीरिक, मानसिक एवं भावनात्मिक प्रक्रिया होती है।

हो सकता है कुछ व्यायामों को करने के लिए आपको साधनो की आव्यशकता पढ़ जाए किन्तु योग के लिए न तो आपको किसी साधन की आवश्यकता होती है और न ही इसमें आपको ज्यादा खर्च करना पड़ता है।

यही वजह है इस आधुनिक युग में योग लोकप्रिय बनता जा रहा है। और इसको करने वालो की संख्या में भी वृद्धि हो रही है|  फिर भी यदि आपको योग और कसरत में संदेह हो रहा है तो आईये जानते है Difference Between Yoga and Exercise, याने की इन दोनों में किस प्रकार भिन्नता है।

Difference between Yoga and Exercise: जाने दोनों में क्या है भिन्नता

Difference between Yoga and Exercise

अंतर 1

  • कसरत को हर उम्र का व्यक्ति नहीं कर सकता है जैसे की वृद्ध या फिर एक बीमार व्यक्ति परन्तु योग में इस तरह की कोई सीमा नहीं होती है|
  • इसे वृद्ध या बीमार व्यक्ति भी कर सकता है जैसे की कुछ आसन होते है जिसने आप सिर्फ साँस की क्रिया द्वारा कर सकते है|

अंतर 2

  • योग के दौरान आपको अपनी साँसों और आसान पर ध्यान केन्द्रित करना होता है जिससे शरीर के प्रति जागरूकता में बृद्धि होती है|
  • लेकिन कसरत में आपको अपना ध्यान केन्द्रित नहीं करना होता।

अंतर 3

  • कसरत में ऊर्जा तेज़ी से व्यय होती है जिसके कारण आप थक जाते हैं। और ज्यादा कसरत नहीं कर पाते|
  • लेकिन योग में ऊर्जा धीरे धीरे खर्च होती है जिसमे आप थकने की बजाये अपने आप को तारो ताजा अनुभव करते है।

अंतर 4

  • सबसे महत्वपूर्ण बात कई सारी कसरत के लिए आपको भरपूर स्थान और साधन- समान की आवश्यकता होती है।
  • लेकिन योग के लिए आपको सिर्फ एक मैट और थोड़ी सी जगह की आवश्यकता पड़ती है। यहाँ आप मैट पर योग करने महत्व भी जान सकती है|

अंतर 5

  • कसरत के दौरान हम अपनी साँसों पर बिलकुल ध्यान नहीं देते जिससे साँसें काफी तेज़ हो जाती है।
  • लेकिन योग में साँसों पर संतुलन कैसे रखना है ये सिखाया जाता है और इसमें आसन के मुताबिक सांस लेनी पड़ती है।

अंतर 6

  • कसरत से सिर्फ शारीरिक योग्यता में बृद्धि होती है।
  • परन्तु योग द्वारा आप शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक रूप से भी मजबूत होते है|

अंतर 7

  • कसरत करने से पाचन शक्ति बढ़ जाती है जिसके फलस्वरूप भूख ज़्यादा लगती है और इंसान अधिक खाना खाता है।
  • लेकिन Yoga Exercise से पाचन शक्ति की गति धीमी होती है जिससे भूख कम लगती है और इंसान कम खाने लगता है।

अंतर 8

  • कसरत में तीव्रता और प्रबलता पर ज्यादा बल दिया जाता है, जिसके कारण मांसपेशियों को हानि भी पहुच सकती है।
  • लेकिन योग धीमी गति से किया जाता है और यह सहनशक्ति बढ़ाता है। योग करने से मांसपेशियाँ कमजोर नहीं होती है|
अब  तो आप समझ  ही गए होने की योग क्या है और कसरत क्या है।