Guptasana(Hidden Pose): सेक्स सम्बन्धी समस्याओं से छुटकारा दिलाये, जीवन सुखी बनाये

गुप्तासन को हिडन पोस के नाम से भी जाना जाता है। गुप्तासन में गुप्त का अर्थ होता है छिपा हुआ या गोपनीय। इस आसन में दोनों पैरो को छिपाकर बैठा जाता है इसलिए इसका नाम गुप्तासन रखा गया है।

यह आसन करने में आसान होता है और इससे कई प्रकार के रोग दूर हो जाते है। गुप्तासन द्वारा स्त्री, पुरुष, योगी, भोगी और चंचल चित्तवाले अर्थात सभी को लाभ पहुँचता है।

यदि आप ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहते है तो यह आसन आपके लिए लाभकारी रहेगा। क्योंकि इसे नियमित अभ्यास से ब्रह्मचर्य शक्ति विकसित हो जाती है। कुंडलिनी शक्ति के जागरण में यह योगाभ्यास एक अच्छा माध्यम होता है।

यह आसन पुरुषो में होने वाले वीर्यदोष तथा वीर्य की चंचलता को दूर करने में भी मदद करता है। साथ ही यह शरीर को आंतरिक शक्ति देने में भी सहायक है। जानते है Guptasana(Hidden Pose) को करने की विधि उसके फायदे और करते समय ध्यान रखने योग्य सावधानियाँ।

Guptasana in Hindi: जाने इसकी विधि, लाभ और सावधानी

Guptasana in Hindi
Hidden Pose Steps: गुप्तासन को करने की विधि

  • इस आसन को करने के लिए ज़मीन पर इस प्रकार बैठे कि बाएं पैर की एड़ी गुदा के संपर्क में रहे।
  • फिर इसके बाद अपने नितंबों को उठाकर बायां पैर दाएं पैर के ऊपर इस प्रकार रखें कि पंजे बाएं पांव की जांघों के नीचे छिपे रहें।
  • अब बैठते समय हाथ घुटनों के ऊपर होते हुए नीचे रखें।
  • ध्यान रहे की रीढ़ की हड्डी सीधी होनी चाहिए।
  • धीरे धीरे सांस को अंदर लें और फिर धीरे धीरे बाहर की तरफ सांस छोड़े।
  • अपनी क्षमता के अनुसार इस आसन को करें और फिर धीरे धीरे आप इसकी अवधि को बढ़ा सकते है।

Hidden Pose Benefits: गुप्तासन के फायदे

  • गुप्तासन को नियमित रूप से करने पर आँखें स्वस्थ रहती है।
  • यदि किसी को स्वप्न दोष की समस्या हो तो इस आसन को करने से लाभ मिलता है।
  • गुप्तासन का नियमित अभ्यास करने से सेक्स जीवन में खुश रहा जा सकता हैं।
  • गुप्तासन का नियमित अभ्यास करने से मूत्र मार्ग में होने वाले रोगों का उपचार करने में मदद मिलती है।
  • चेहरे की खूबसूरती को बढ़ाने के लिए गुप्तासन को रोज करे। ऐसा करने से चेहरे की रंगत बढ़ती है और चमक आती है।
  • इसके नियमित अभ्यास से चित्राख्या नाड़ी पर सीधा असर होता हैं, जिससे जननेंद्रिय में सही तरीके से रक्त का संचार होने लगता है ।
  • सेक्स से संबंधित सारी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए यह आसान फ़ायदेमंद होता है। साथ ही यह आसन अत्यधिक कामोत्तेजना और अनैच्छिक र्वीयपात को भी नियंत्रित करता है।

गुप्तासन को करते समय ध्यान रखने वाली सावधानिया

  • यदि एड़ियों में दर्द की समस्या हो तो इस आसन को नहीं करना चाहिए।
  • किसी व्यक्ति को घुटनो में दर्द हो तो गुप्तासन को नहीं करना चाहिए।
  • इस आसन को अपनी क्षमता से ज्यादा नहीं करना चाहिए।
  • गुप्तासन को किसी प्रशिक्षक की देखरेख में ही करना चाहिए।

You may also like...