Yoga Backbends: बैकबैंड योग के आसनों से रखें खुद को स्वस्थ

Go to the profile of  Yogkala Hindi
Yogkala Hindi
1 min read
Yoga Backbends: बैकबैंड योग के आसनों से रखें खुद को स्वस्थ

बैकबेंड योग आम योगासनों से थोड़ा कठिन होता है पर अगर आप इसको करते है तो यह आपके लिए काफी ज्यादा फ़ायदेमंद साबित हो सकता है। बैक बेंड का सबसे ज्यादा फायदा आपके दिल को होता है साथ ही यह आपके नर्वस सिस्टम के लिए भी लाभदायक साबित होता है।

बैक बेंड योग करते समय सबसे मुश्किल पार्ट होता है आपको अपनी बॉडी को नेचर के अपोजिट उठाना और फिर उसे मोड़ना । इसे करते समय कई बार बैलेंस बिगड़ भी जाता है इसलिए इसे करते समय सतर्क रहने की जरुरत होती है।

आपको बैक बेंड योग करते समय काफी सावधानी बरतनी चाहिए जिससे की आपको इस योग को करते समय कोई समस्या ना आए। जब आप बैक बेंड योग करते है तब आपको धीरे धीरे आपकी बॉडी पार्ट्स को मूव करना चाहिए।

इस लेख में हम आपको बताने जा रहे हैं की आपको बैक बेंड योग में कौन से आसन का अभ्यास करना चाहिए और यह आपके लिए कैसे फ़ायदेमंद है तो इस लेख में आज आप पढ़ेंगे Yoga Backbends.

Yoga Backbends: जाने बैक बेंड के योग के आसनों की विधि

Yoga Backbends in Hindi

भुजंगासना योग - कोबरा पोज़ (Bhujangasana - Cobra Pose)

  • भुजंगासन योग को करने के लिए आप पहले अपने मैट पर अपने पेट के बल लेट जाए।
  • अपने दोनों हाथों की हथेलियों को अपने कंधो के नीचे रख लें।
  • अपने दोनों पैरो को सीधा रखे और अपनी हाथों की कोहनियों को आसमान की ओर ऊपर रखे।
  • अपने सर को ज़मीन से लगाए रखे।
  • अब धीरे धीरे साँस लेते हुए अपने कंधो के माध्यम से अपर बॉडी को उठाए।
  • अपनी पीठ को पीछे की ओर झुकाने की कोशिश करें।
  • अपने हाथों पर किसी भी प्रकार का दबाव ना पड़ने दे।
  • अब इस स्थिति में आप कम से कम 20 से 30 सेकंड तक के लिए बने रहें ।
  • अब वापस सामान्य स्थिति में आते आते अपनी साँस छोड़े।
  • यह आसान आपकी रीढ़ की हड्डी में फ्लेक्सिबिलिटी लाता है और साथ ही गले की खराबी को भी दूर करता है।

धनुरासन - बौ पोज़ (Dhanurasana - Bow Pose)

  • इस आसान को करने के लिए पहले आप अपनी मैट पर पेट के बल लेट जाए ।
  • अब अपनी सांसो को छोड़ते हुए आप अपने पैरों को आसमान की ओर उठाए।
  • फिर अपने दोनों हाथों से अपने पैरों के पंजों को पकड़े।
  • साथ ही अपनी अपर बॉडी को उठाए।
  • आपको इस स्थिति में अपनी जांघें, चेस्ट और सर ऊपर की ओर उठाना होता है ।
  • जब आप पूरी तरह से अपनी बॉडी को उठा लेते है तो अपने पैरो के बीच की स्पेस को कम करने की कोशिश करे।
  • अब आप धीरे धीरे सांसे लें और छोड़े।
  • अब फिर से सामान्य अवस्था में आने के लिए आप गहरी गहरी सांसे छोड़े।
  • इस क्रिया को आप कम से कम 3 से 4 बार ज़रूर करे।
  • इस आसान से कमर दर्द, डायबिटीज और अस्थमा जैसी समस्याओ से राहत मिलेगी।

उष्ट्रासन -कैमल पोज़ (Ustrasana - Camel Pose)

  • इस आसान को करने के लिए आप पहले अपनी मैट पर अपने घुटनो के बल बैठ जाए।
  • ध्यान रखे अपने दोनों पैरो को पास पास रखे।
  • अब धीरे धीरे साँस लेते हुए पीछे की ओर झुके।
  • अपने सर को भी पीछे की ओर झुकाये और अपने दोनों हाथों से अपने दोनों पैरों की ऐड़ियो को छुए।
  • आपकी बॉडी का वजन बांहो पर और पैरों पर सामान्य रूप से हो।
  • अब इस अवस्था में सांसे और छोड़े।
  • अब गहरी साँस छोड़ते हुए वापस सामान्य स्थिति में आ जाए।
  • इस क्रिया को कम से कम 5 बार ज़रुर करें।
ऊपर इस लेख में दी गयी बैक बेंड योग के अलावा आप उत्तान शिशोसन और सेतु बांध सर्वांगासन भी कर सकते है। इस लेख में दिए गए सभी आसान आपके लिए फ़ायदेमंद है और यह बैक बेंड में लाभदायक होते है।