योगकला में हमने आपको योग के कई प्रकारों तथा उनके लाभों से अवगत करवाया है| योग आपको स्वस्थ जीवन जीने के लिए रामबाण औषधि के समान कार्य करता है। इसके मुख्य उद्देश्य की बात करे तो यह आपके मन और मस्तिष्क को स्थिर रखता है।

योग हमें बिमारियों से बचाने में मदद करता है, जिसके चलते हम स्वस्थ जीवनशेली जीते है| योग के केवल शारीरिक फायदे ही नहीं है| यह हमें तनाव रहित जीवन जीना भी सिखाता है| योग हमारे तन, मन तथा आत्मा के लिए लाभदायक है|

जब योग इतना ही लाभदायक है तो हमें इसे करने की शिक्षा अपने बच्चो को भी देना चाहिए| योग का महत्व उन्हें सिखाना चाहिए| आइये Yoga Education के बारे में विस्तार से जानते है|

Yoga Education in Hindi: शिक्षा में योग का महत्व

Yoga Education in Hindi

छात्रो के लिए आवयशक है योग

बहुत से चिकित्सक आपको योग करने की सलाह देते है, लेकिन आप उनकी बातो पर गौर नहीं करते| हम आपको बता दे की योग केवल साधू संतो के लिए नहीं है, यह पूरी मानव जाती के लिए आवश्यक है| खास तौर पर छात्र जीवन के लिए तो योग बहूत ही आवश्यक है।

योग से छात्रों में बढती है एकाग्रता

आजकल के छात्रो में पढाई को लेकर रूचि थोड़ी कम देखि जा रही है| वे पढाई में ध्यान नहीं लगा पाते है| इसके पीछे की एक वजह यह भी हो सकती है की उनका शरीर स्वस्थ नहीं है| और हम आपको बता दे की स्वस्थ शरीर में ही शिक्षा का निवास है|

योग की मदद से स्वस्थ शरीर संभव है| क्योकि इससे सारे शरीर के रोगों का निदान होता है। और योग केवल शरीर को ही बलशाली नहीं बनाता है। बल्कि यह मन मस्तिष्क को उसके कार्य के प्रति जागरूक भी करता है|

योग मन को शक्तिशाली बनाता है

आजकल के बच्चो को बचपन से ही पढाई का बहुत बोझ होता है, बचपन से ही वे कॉम्पिटिशन की फ़ील्ड में उतर जाते है| और नाकाम होने पर उन्हें दुःख होता है| ऐसे में बच्चे कमजोर होते है, इसलिए बच्चो का मन स्ट्रोंग होना जरुरी है|

योग मन को दुःख एवं दर्द सहन करने की शक्ति प्रदान करते है| यह दृढ़ता एवं एकाग्रता शक्ति बढाता है| इतना ही नहीं इससे शरीर सक्रिय एवं रचनात्मक बनता है|

मस्तिष्क को शक्तिशाली बनाता है

योग का अभ्यास नियमित तौर पर करने से आपका मस्तिष्क शक्तिशाली एवं संतुलन बनता है। इससे आपका मन विचलित नहीं होता है। यह शुप्त शक्तियों को जागृत तो करता ही है, साथ ही साथ उसमे आत्मविश्वास भी भरता है।

मादक द्रव्यों से छुटकारा दिलाता है

बहुत से छात्रो को अपने जीवन निर्माण के समय मादक द्रव्यों की आदत लग जाती है| यह मादक द्रव्य स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक होते है| योग के लगातार किये गए अभ्यास से इन गलत आदतों से छुटकारा मिल सकता है|

जीवन को सुखमय बनांये

बहुत से छात्र बहुत ही निर्जीव जीवन व्यतीत करते हैं, ऐसे छात्रो को भी योग का सहारा जरुर लेना चाहिए| योग का अभ्यास मस्तिष्क को शुद्ध करके विचार शक्ति को बढ़ा देता है|

ऊपर आपने जाना Yoga Education in Hindi. अब आप समझ सकते है की शिक्षा जगत में योग की शिक्षा क्यों इतनी आवश्यक है| क्योंकि आज के समय में अधिकतर छात्र एवं छात्राएं ना केवल शारीरिक बल्कि मानसिक रूप से भी अस्वस्थ रहते हैं। जिसके चलते उनमें शिक्षा का विकाश जितना होना चाहिए, उतना नहीं हो पा रहा है।

इन सभी कारणों से वे अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में सफल नहीं हो पा रहे है| यदि आप जीवन में लक्ष्यं की प्राप्ति करना चाहते है तो योग को जरुर शामिल करे, यह आगे बढ़ने में आपकी मदद करता है|