Yoga for Allergic Rhinitis: लाभकारी आसन जो करे नाक की एलर्जी को दूर

आपने देखा होगा कि कुछ लोगों को किसी न किसी चीज की एलर्जी होती है। कुछ को धूल के कारण तो किसी को धुएं से एलर्जी तो किसी व्यक्ति तो प्रदुषण से।

आपने कई बार किसी व्यक्ति को लगातार छींकते देखा होगा। दरअसल, वह एक प्रकार की एलर्जी है। जिसे एलर्जिक राइनाइटिस कहते है। यह एक प्रकार की नाक में होने वाली एलर्जी है। इसे नाक की सूजन के नाम से भी जाना जाता है।

एलर्जिक राइनाइटिस की समस्या धूल या पराग जैसे एलर्जी के संपर्क के कारण उत्पन्न होती है। यह एक सामान्य बीमारी होती है परन्तु इसके कारण व्यक्ति प्रभावित होता है। यदि इस बीमारी का उपचार समय पर नहीं हो पाता है तो इसके कारण अन्य बीमारियां भी जन्म ले सकती है।

एलर्जिक राइनाइटिस की समस्या के निदान के लिए योग का अभ्यास बहुत लाभकारी होता है। योग एलर्जी के लिए एक प्राकृतिक उपाय है। योग के द्वारा एलर्जी के लक्षणों की तीव्रता कम करने में मदद मिलती है। जानते है Yoga for Allergic Rhinitis.

Yoga for Allergic Rhinitis: एलर्जिक राइनाइटिस को दूर करने में सहायक आसन

Yoga for Allergic Rhinitis in Hindi

सर्वांगासन

  • सर्वांगासन योग के द्वारा पुरे शरीर का व्यायाम हो जाता है।
  • सर्वांगासन मुद्रा फेफड़ों के क्षेत्र में रक्त के प्रवाह को बेहतर बनाने में मदद करता है।
  • इस आसन के द्वारा तंत्रिकाओं को शांत किया जाता है जिससे अनिद्रा और चिड़चिड़ेपन की समस्या भी दूर होती है।
  • एलर्जिक राइनाइटिस से निजात पाने के लिए यह योग उत्तम होता है।

अर्धचक्रासन

  • अर्धचक्रासन को करने से पूरे शरीर की स्ट्रेचिंग हो जाती है।
  • एलर्जिक राइनाइटिस रोगियों के लिए यह योग लाभकारी होता है।
  • इसे करने से कमर दर्द की समस्या भी ख़त्म हो जाती है। साथ ही पाचन तंत्र मजबूत बनता है।
  • शरीर को संतुलित बनाने के लिए इस आसन का अभ्यास नियमित रूप से करना चाहिए।

सेतुबंधासन

  • सेतुबंधासन को करने से तनाव और चिंता दूर हो जाती है।
  • इस मुद्रा द्वारा आपके फेफड़ों को उत्तेजित करता है और थकान और सिरदर्द को कम करने में भी मदद करता है।
  • इस आसन को नियमित रूप से करने पर मानसिक शांति प्राप्त होती है।
  • पेट के निचले हिस्से में होने वाले दर्द से छुटकारा पाने के लिए इस आसन का अभ्यास करना लाभकारी होता है। साथ ही पेट के विकार भी दूर हो जाते है।

पवनमुक्तासन

  • एलर्जिक राइनाइटिस की समस्या को दूर करने के लिए पवनमुक्तासन का अभ्यास उत्तम होता है।
  • यह आसन तंत्रिकाओं को उत्तेजित करता है और शरीर में रक्त परिसंचरण में सुधार करता है।
  • यह शरीर से विषाक्त पदार्थो को बाहर निकालने में मदद करता है।
  • यह फेफड़ों को स्वस्थ रखने में मदद करता है। साथ ही उन्हें सुचारु रूप से चलाने में भी सहायक होता है।

वीरभद्रासन

  • शरीर का संतुलन बढ़ाने में इस आसन का अभ्यास बहुत ही उत्तम होता है।
  • नाक की एलर्जी को दूर करने के लिए यह लाभकारी आसन होता है।
  • पाचन प्रणाली को भी मजबूत बनाने में सहायक होता है।
  • नियमित रूप से इस आसान का अभ्यास तनाव और चिंता को दूर करने के लिए भी फायदेमन्द होता है।

उपरोक्त आसनो का अभ्यास करने से एलर्जिक राइनाइटिस की समस्या से निजात मिलता है। इसलिए इस आसन का अभ्यास नियमित रूप से करे।

You may also like...