पूरे शरीर को ठीक से कार्य करने के लिए रक्त संचार का सही होना जरूरी है। इसके चलते आपके शरीर के सारे अंग ठीक से कार्य कर पाते हैं और शरीर का तापमान भी नियंत्रित रहता है।

रक्त संचार के सुचारु ना होने पर शरीर में कई प्रकार कि बीमारियाँ हो सकती है। जिसके कारण हृदय, लीवर, किडनी और मस्तिष्क जैसे अंगों को भी हानि पहुँचती है। ब्लड सर्कुलेशन कि समस्या किसी भी उम्र के लोगो को हो सकती है।

रक्त संचार के ख़राब होने के (बहुत कम या ज्यादा होना) कई कारण हो सकते है जैसे कि लम्बे समय तक बैठना, धुम्रपान, गलत खान पान और वजन का बढ़ना।

योग एक ऐसा माध्यम है जो रोगों को ठीक करता है और शरीर को स्वस्थ रखता है। ख़राब रक्त संचार को भी योग के माध्यम से ठीक किया जा सकता है। जानते है Yoga for Blood Circulation कौन कौन से है।

Yoga for Blood Circulation: ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाने में मदद करे

Yoga for Blood Circulation-

हस्तपादासन

  • इस आसन को खड़े होकर किया जाता है।
  • हस्तपादासन में हांथो के द्वारा पैरों को पकड़ा जाता है।
  • यह तंत्रिका तंत्र में रक्त का प्रवाह बढ़ाकर उसमे स्फूर्ति लाता है।
  • पूरे शरीर में खून का संचार सही ढंग से होता है।
  • हस्तपादासन पूरे शरीर को लचीला बनाता है।

उष्ट्रासन

  • इस आसन में शरीर कि आकृति ऊंट के जैसे लगती है।
  • यह आसन बैठ कर किया जाता है, यह एक सरल आसन होता है।
  • इस आसन को करने से बेड कोलेस्ट्रॉल कम होता है और ब्लड सर्कुलेशन ठीक से हो जाता है।
  • साथ ही यह आसन क्रोध को कम करने के लिए बहुत ही लाभदायक होता है।
  • सांस की बीमारियों से पीड़ित लोगों के लिए यह बेहद उपयोगी है।
  • उष्ट्रासन की विधि आप यहाँ जान सकते है।

अधोमुख शवासन

  • इस आसन को करते समय शरीर की आकृति एक कुत्ते के समान होती है।
  • यह आसन भी सरल होता है इसलिए इसे यदि कोई व्यक्ति योग कि शुरुआत कर रहा है तो इसे कर सकता है।
  • यह आसन शरीर में उर्जा प्रदान करता है इससे शरीर में स्फूर्ति आती है।
  • अधोमुख शवासन द्वारा हांथो और पैरों को मज़बूती मिलती है।
  • पाचन क्रिया में सुधार लाने और रक्त संचार सुचारु करने के लिए यह आसन लाभकारी होता है।

ताड़ासन

  • यह आसन गर्भावस्था के प्रारंभिक चरण के दौरान भी फ़ायदेमंद होता है।
  • ताड़ासन से ब्लड सर्कुलेशन में सुधार होता है।
  • वजन को कम करने में भी यह आसन फ़ायदेमंद होता है।
  • शरीर के संतुलन और एकाग्रता को बढ़ाने में भी यह सहायक होता है।

सर्वांगासन

  • सर्वांगासन को करने पर पूर्ण शरीर का व्यायाम हो जाता है।
  • इस आसन को करने से थकान और शरीर कि दुर्बलता दूर हो जाती है।
  • वजन को कम करने में भी यह आसन लाभकारी होता है।
  • इस आसन से हमारा ब्लड सर्कुलेशन तेजी से कार्य करता है।
  • इससे पाचन तंत्र भी स्वस्थ्य रहता है।