Yoga for Confidence in Kids: बच्चो में डर को दूर करके आत्मविश्वास बढ़ाये

Go to the profile of  Yogkala Hindi
Yogkala Hindi
1 min read
Yoga for Confidence in Kids: बच्चो में डर को दूर करके आत्मविश्वास बढ़ाये

बच्चे पेरेंट्स के डर से या फिर किसी घटना को देखने के बाद डर जाते है। बच्चों में डर होने से पेरेंट्स को भी चिंता हो जाती है की उन्हें इस डर से कैसे वापस निकाला जाए।

डर के होने से बच्चों के आत्मविश्वास में कमी आ जाती है। जिसके कारण वे कुछ भी काम करने में डरने लगते है और आगे नहीं बढ़ पाते है।

इसलिए पेरेंट्स को उनकी इस समस्या के बारे में ध्यान देना चाहिए। इसके लिए आप बच्चों को योगाभ्यास करवा सकते है जो की उनके डर को कम करके उनमे आत्मविश्वास में वृद्धि करेगा।

योग एक ऐसा माध्यम होता है जो की मन को शांत करके उससे डर को दूर कर देता है। साथ ही साथ इसके अभ्यास से बच्चों के एकाग्रता में भी वृद्धि भी होती है। तो चलिए जानते है Yoga for Confidence in Kids किस तरह फ़ायदेमंद है।

Yoga for Confidence in Kids: इन आसनों से बच्चों में बढ़ेगी एकाग्रता

Yoga for Confidence in Kids

वृक्षासन

  • यह आसन बच्चों के मस्तिष्क में स्थिरता और संतुलन लाता है।
  • वृक्षासन के नियमित अभ्यास से बच्चों में एकाग्रता को बढ़ाने में सहायता मिलती है।
  • इस आसन को करते रहने से बच्चों का डर भी कम हो जाता है।
  • इस आसन को बच्चे आसानी से कर सकते है।

वीरभद्रासन

  • वीरभद्रासन को करने से बच्चों में होने वाली चिंता और तनाव दूर हो जाता है और आत्मविश्वास बढ़ता है।
  • यह आसन शरीर में संतुलन बढाता है और साथ ही इससे सहनशीलता भी बढती है।
  • यह आसन करने में सरल होता है इसलिए बच्चे इसे आसानी से कर सकते है।
  • वीरभद्रासन द्वारा शरीर चुस्त और फुर्तीला होता है।

शवासन

  • इस आसन को लेट कर किया जाता है जिससे मन शांत हो जाता है।
  • आसन शरीर को स्थिर करने के लिए सबसे उत्तम आसन है
  • ध्यान के लिए यह बहुत ही फ़ायदेमंद होता हैं ।
  • यह आसन बच्चों में तनाव और थकावट को दूर कर उनके विकास में सहायता करता है।

कपालभाती

  • इस आसन को करने से यह मस्तिष्क और तंत्रिका तंत्र को ऊर्जान्वित करता है।
  • इसके नियमित अभ्यास से मन शांत होता है। जिससे बच्चों के आत्मविश्वास में वृद्धि होती है।
  • यह आसन पोषक तत्वों का शरीर में संचरण करता है।
  • कपालभाती पाचन क्रिया को अच्छा करता है।

नाड़ी शोधन प्राणायाम

  • नाड़ी शोधन प्राणयाम रक्त और श्वास तंत्र को शुद्ध करने में मदद करता है।
  • नाड़ी शोधन प्राणयाम के नियमित अभ्यास से यह चिंताओं और सिर दर्द को दूर करने में सहायता करता है।
  • इसके अभ्यास से आँखों की रौशनी बढ़ती है।
  • मन को शांत और केंद्रित करने के लिए यह एक बहुत ही अच्छी क्रिया होती है।
ऊपर दिए गए आसन के अतिरिक्त आप अपने बच्चों को भस्त्रिका प्राणायाम, भ्रामरी प्राणायाम, शीर्षासन, हस्तपादासन आदि भी करवा सकते है। इन आसनो को करने से बच्चों में आत्मविश्वास तो बढ़ेगा ही साथ ही वह रोगों से भी दूर रहेंगे।