Yoga for Hips - कूल्हों को शेप में लाने के लिए प्रभावी योगासन

Go to the profile of  Yogkala Hindi
Yogkala Hindi
1 min read
Yoga for Hips - कूल्हों को शेप में लाने के लिए प्रभावी योगासन

हम सभी चाहते है कि स्वस्थ रहने के साथ साथ हमारा शरीर शेप में रहे। परन्तु कार्यस्थल में घंटो बैठे रहने के कारण हमारा शरीर बेडौल हो जाता है और खासकर इसका ज्यादा प्रभाव हिप्स पर पड़ता है।

एक ही जगह पर घंटो बैठे रहने के कारण हिप्स का शेप बिगड़ जाता है। शरीर को सही आकार देने और सुंदर, सुडौल दिखने के लिए हिप्स का सही शेप में होना भी जरुरी होता है।

हिप्स को शेप में लाने के लिए योग का अभ्यास बहुत लाभकारी होता है। योगाभ्यास की मदद से आप सुडौल शरीर पा सकते है साथ ही अपने शरीर को भी रोगो से मुक्ति दिलाकर खुद को स्वस्थ रख सकते है।

लेकिन इसके लिए आवश्यक है अपनी दिनचर्या से थोड़ा था समय निकाल कर योग का अभ्यास करे। जानते है Yoga for Hips, जिसके द्वारा आप अपने हिप्स को शेप में ला सकते है।

Yoga for Hips in Hindi: आपके कूल्हों को सुडौल बनाये

Yoga for Hips

उत्कटासन

  • इस आसन को चेयर पोज़ भी कहा जाता है।
  • इस आसन को करने के लिए एक काल्पनिक कुर्सी पर बैठने वाली स्थिति में आये।
  • हाथों को सामने की ओर फैलाते हुए हथेली का रुख ज़मीन की ओर होना चहिये।
  • कुछ देर तक इस स्थिति में बने रहे, फिर सामान्य स्थिति में आ जाए|
  • इस आसन को करने से जांघो, एड़ी और हिप्स की मांसपेशियों को मजबूती मिलती है।
  • उत्कटासन को रोज करके आप जांघों, हिप्स और कमर को सही आकर दे सकते है|

नटराजासन

  • सबसे पहले ताड़ासन की मुद्रा में खड़े हो जाये|
  • अपने दाहिने पैर को ऊपर उठाएं और इस तरह पीछे की ओर स्विंग करें कि आपका दायां पैर जमीन के समानांतर हो।
  • अपने घुटने को मोड़ो, दाहिने पैर में खिंचाव लाये पर अपने दाए हाथ से इसे सपर्श करे|
  • एक बार जब आप इस अवस्था में संतुलित हो जाते है, तो अपने बाएं हाथ को आगे की और स्ट्रेच करे|
  • अपनी बाईं उंगलियों को देखते हुए कुछ सेकंड के लिए इसी मुद्रा में रहे।
  • अब सामान्य स्थिति में आ जाये और दूसरी तरफ से भी दोहराये।
  • यह आसन जांघों को कम करने में मदद करता है, हिप्स को शेप में लाता है, पैरों को मजबूत करता है आदि|

उष्ट्रासन

  • आसन बिछाकर वज्रासन की स्थति में बैठ जाये।
  • अपने कूल्हों और अपने शरीर को ऊपर उठाएं।
  • अपनी छाती को खोलते हुए अपनी बाहों से अपने पैरों को छुए।
  • धीरे-धीरे अपने सिर को पीछे की तरफ ले जाए जिससे कि आपको पीछे का दिखे|
  • इस स्थिति में कुछ देर तक रुके, फिर सामान्य स्थिति में आ जाये।
  • यह आसन पीठ और कंधो को मजबूती देता है।
  • जांघो और हिप्स को शेप में लाने के लिए यह बहुत असरकारी है|
इन आसनो के अतिरिक्त आप चाहे तो निरलंब सुप्ता पवनमुक्तासन, वीरभद्रासन 1, जानुशीर्षासन, बद्ध कोणासन, मालासन, नावासन, शलभासन, सेतुबंधासन और आनंद बालासन भी कर सकते है।