योग आपके सम्पूर्ण स्वास्थ्य बहुत लाभकारी होता है साथ हीं इससे आप कई प्रकार की बीमारियों से भी बहार निकल कर हमेशा स्वस्थ रह सकते हैं।अनिंद्रा की शिकायत होने पर भी योग का सहारा ले कर आप इस समस्या से निजात पा सकते हैं।

अगर आपको नींद नहीं आती है या फिर तुरंत चरण नींद टूटती रहती है तो यह अनिंद्रा की शिकायत कहलाती है। इसमें हो सकता है की आपको नींद थकान ज्यादा महसूस होने के कारण नहीं आती हो और या फिर कभी कभी ज्यादा चिंता और अवसाद के कारण भी नींद नहीं आती है।

ज्यादातर अनिद्रा ज्यादा स्ट्रेस होने के कारण होता है। अनिंद्रा एक आम सी समस्या है पर जब ये होती है तो लोगो में चिड़चिड़ापन आ जाता है और इसकी वजह से दूसरी समस्याएं भी उत्पन्न हो जाती हैं ।

इस लेख में हम आपको कुछ योग बताएंगे जिससे आप अपनी इस समस्या से राहत पा सकेंगे और साथ हीं फिर से गहरी और लम्बी नींद का आनंद ले सकेंगे। आइये इस लेख में पढ़ते हैं Yoga for Insomnia.

Yoga for Insomnia: इंसोम्निया की बीमारी से राहत के लिए करें ये योग

Yoga for Insomnia in Hindi

पश्चिमोत्तासन

  • यह आसन करने से आपका दिमाग शांत रहता है और साथ ही आपकी बॉडी को आराम भी मिलता है।
  • इस आसान को करने के लिए पहले अपनी मैट पर बैठ जाए फिर अपने दोनों पैरो को सामने की ओर फैला ले।
  • अपने दोनों हाथों को अपने सर के ऊपर ले जाए।
  • उसके बाद अपने दोनों हाथों के साथ अपनी अपर बॉडी को झुकाते हुए अपने हाथों की उंगलियों से अपने पैरो की उंगलियों को छुए।
  • साथ ही अपने सर से अपने घुटने को स्पर्श करने की कोशिश करे।
  • जब आप नीचे की तरफ झुकें तब साँस छोड़े और ऊपर उठते हुए भी साँस ले।
  • धीरे धीरे फिर से समान्य स्थिति में आ जाए।

उत्तनासना

  • यह आसन करने के लिए आपको पहले सीधे खड़े हो जाना चाहिए।
  • अब अपने हाथों को आगे की ओर से उठाते हुए अपने सिर के ऊपर कर ले जाएँ ।
  • इसी के साथ ही धीरे धीरे साँस ले।
  • अब अपने हाथों और अपर बॉडी को आगे की ओर झुकाते हुए हाथ की हथेलियों से ज़मीन को छुए।
  • साथ ही अपने सर से अपने घुटनो को छूने की कोशिश करे।
  • इस के बाद अपने हाथों को जमीन पर स्पर्श करते हुए पीछे की ओर ले जाए।
  • अब वापस अपने हाथों को उठाये और आगे की ओर लाए।
  • अब फिर से साँस लेते हुए धीरे धीरे अपनी अपर बॉडी को उठाये।
  • अब वापस से सामान्य स्थिति में आ जाए।
  • इस आसन को आराम से धीरे धीरे करे, झटके से न करे।
  • ध्यान रखे की इससे आपकी बॉडी की किसी भी मांसपेशियों किसी प्रकार का तनाव महसूस न हो।

अपनासना

  • यह आसन आपकी पीठ और जांघ के साथ साथ गर्दन को आराम दिलाने में सक्षम है।
  • इस आसन को करने के लिए पहले आप अपनी मैट पर सीधे लेट जाए।
  • फिर अपनी हाथ की हथेलियों को अपने घुटनों पर रखे।
  • अब साँस छोड़ते हुए अपने पैरों को मोड़ते हुए अपनी छाती से स्पर्श करने की कोशिश करे।
  • ध्यान रखे की अपनी जांघो पर जोर दे कर आपको अपने पैरो को उठाना है न की अपने हाथों को जोर देकर।
  • साँस लेते समय अपनी पकड़ को ढीला रखे।
  • अपनी आँखों को बंद रखे और दिमाग को शांत रखे।
  • जब आप मन में शांति महसूस करे तब अपने पैरों को धीरे धीरे ज़मीन पर रखे।
ऊपर दिए आसान के अलावा आप सुप्त बड्ढा कोणासन, शवासन, भी कर सकते है।

ऊपर दिए लेख में अपने पढ़ा की इंसोम्निया की बीमारी होने पर आपको इससे छुटकारा पाने के लिए कौन कौन से योगासन करने चाहिए जिससे की आपको इस परेशानी से राहत मिले और साथ ही आप स्वस्थ हो जायें।