Yoga for Negative Thoughts: नकारात्मक विचारों के लिए करे योग, तनाव भी होता है दूर

हर किसी के मन में कभी न कभी नकारात्मक विचार आते रहते है। जीवन में नकारात्मक विचारों का आना अच्छा नहीं होता है। क्योंकि हमारे विचार यह निर्धारित करते हैं कि हम अपनी ज़िंदगी कैसे जीते हैं।

सबसे अधिक नकारात्मक विचार ईर्ष्‍या, लालच, निर्दयता आदि के कारण ही मन में आते है। शोध के द्वारा यह पता चला है की किसी व्यक्ति द्वारा सोचे गए विचारो में 80% से ज्यादा विचार नकारात्मक होते है। जो प्रति दिन लगभग 40,000 विचारों के बराबर होते है।

नकारात्मक विचार आने के कारण कुछ व्यक्ति डिप्रेशन और तनाव का भी शिकार हो जाते है। जिससे उन्हें बाहर निकलने में कठिनाई होती है। साथ ही कुछ लोगो को इससे कई बीमारियाँ भी हो जाती है जो व्यक्ति के लिए बहुत घातक सिद्ध होती है।

नकारात्मक विचारों को दूर करने के लिए योग सबसे अच्छा माध्यम होता है जो आपके मन को स्थिर कर नकारात्मक विचार को बाहर निकालने में मदद करता है। जानते है Yoga for Negative Thoughts के बारे में विस्तार से।

Yoga for Negative Thoughts: योग से करें नकारात्मकता दूर

Yoga for Negative Thoughts

नकारात्मक विचार के लिए योग के फायदे

  • योग के अभ्यास से मन को शांति प्राप्त होती है जिसके कारण मन स्थिर हो जाता है और मन में आने वाले नकारात्मक विचार बाहर निकल जाते है।
  • योग मन में सकारात्मक विचारों को लाने में मदद करता है। यह हमारे अंदर ऐसे विचारों को उत्पन्न करता है जो की हमारे शरीर और मन दोनों के लिए लाभकारी होते है।
  • यह मन में ऊर्जा का संचार करता है जिसके कारण आप तनाव और चिंता से मुक्त हो जाते है साथ ही यदि आप डिप्रेशन में रहते है तो उसे भी यह दूर करने में सहायक होता है।
  • मन से यदि नकारात्मक विचार चले जाते है तो आप एक स्वस्थ्य जीवन जीने में सक्षम बनते है और रोगों से भी दूर रहते है।

नकारात्मक विचार के लिए कौन से योग करे

  • तनाव, चिंता और नकारात्मक विचार को दूर करने के लिए योग और ध्यान बहुत ही महत्वपूर्ण होते है।
  • इसके लिए आप धनुरासन, मत्स्यासन, सेतुबंधासन, पश्चिमोत्तानासन, अधोमुख श्वानासन, शीर्षासन, शवासन आदि आसनो का अभ्यास कर सकते है।
  • यह आसन आपके तनाव और नकारात्मक विचारों को दूर करने में सहायता करते है साथ ही इनके नियमित अभ्यास से आप स्वस्थ्य भी रह पाते है।

डेटॉक्स योग

  • शरीर में विषाक्त पदार्थ बढ़ने के कारण आप अस्वस्थ महसूस करते है जिसके चलते भी मन में नकारात्मक विचार जन्म लेते है।
  • इसलिए इसे दूर करने के लिए आप मार्जरी आसन का अभ्यास कर सकते है।
  • यह योग शरीर को मोड़ कर पाचन को उत्तेजित करने और शरीर की अशुद्धियों को दूर करने में मदद करता है।

जानिए क्यों आते है नकारात्मक विचार

  • प्रत्येक मनुष्य के दिमाग में 24 घंटे में हजारों विचार उत्पन्न होते है।
  • आपको बता दे की इसमें से नकारात्मक विचारों की संख्या अधिक होती है।
  • नकारात्मक विचार तभी उत्पन्न होते है जब मन में डर, चिंता और किसी के प्रति ईर्ष्या की भावना पैदा होती है या फिर हम कोई नकारात्मक घटना देखते है, जो हमारे दिमाग में घर कर जाती है।

You may also like...