Yoga for Throat Infection in Hindi: गले के दर्द और खराश से राहत दिलाये योग

Go to the profile of  Yogkala Hindi
Yogkala Hindi
1 min read
Yoga for Throat Infection in Hindi: गले के दर्द और खराश से राहत दिलाये योग

इस बदलते मौसम में हर किसी को गले में दर्द और साथ ही खराश की समस्या तो ज़रूर होती है। आप यूँ भी कह सकते है की यह एक बहुत ही आम से समस्या है जो सभी को एक न एक बार ज़रूर होती है।

अगर आप भी इस तरह की समस्या से परेशान है तो आपको भी इसे योग का सहारा लेकर दूर करना चाहिए। आखिरकार योग आपको हर तरह की बीमारियों और समस्या से राहत दिलाने में सक्षम होता है।

गले की समस्या के लिए योग में कई प्रकार के आसन दिए गए है जो आपको इस समस्या से छुटकारा दिलाने में मददगार होंगे। इन सभी प्रकार के आसनो का अभ्यास करके आप अपनी गले की समस्याओं से राहत पा कर स्वस्थ हो जायेंगे।

इस लेख में हम आपको आज गले के दर्द से राहत पाने के साथ साथ गले में होने वाली खराश से छुटकारा दिलाने के लिए कुछ आसान बताने जा रहे है। तो इस लेख में पढ़े Yoga for Throat Infection in Hindi.

Yoga for Throat Infection in Hindi: इन आसनो के अभ्यास से गले को रखे स्वस्थ

सिंहासन योग (Simhasana yoga)

  • इस आसन को इंग्लिश में लॉयन पोज़ (Lion) भी कहा जाता है।
  • इस आसान को करने के लिए पहले आप वज्रासन में बैठ जाए।
  • अब अपने पैरों के घुटनो को जितना हो सके दूर करे।
  • अब आप अपने दोनों हाथों को अपने घुटनो के बीच में सीधा रखे।
  • अपने हाथों को रखते समय उन्हें कुछ ऐसे मोड़ें की दोनों हाथों की उंगलिया आपके शरीर की तरफ हो।
  • आप अपनी अपर बॉडी को थोड़ा आगे की ओर झुकाए।
  • साथ ही अपने चहरे और सर को पीछे की ओर रखे और अपने मुँह को जितना हो सके उतना खोले।
  • अब अपनी जीभ (tongue) बहार निकाले।
  • अपनी नज़रों को अपने सर के बीच में केंद्रित करें ।
  • साँस आराम से लें और धीरे धीरे आवाज़ निकालते हुए अपनी सांसों को छोड़े।
  • इस आसान को कम से कम 10 बार ज़रूर करे।
  • अगर आपको किसी प्रकार की समस्या है जिस वजह से आप वज्रासन में नहीं बैठ पा रहे तो आप चेयर पर बैठ कर भी ये आसन कर सकते है।

पर्यंकासन योग (Paryankasana yoga)

  • इस आसन को करने के लिए आप पहले अपने पैरों को घुटनो से मोड़ कर मैट पर बैठ जाए।
  • इस दौरान अपने घुटनो को मोड़े रखे और खड़े हो जाए मतलब घुटनो के बल खड़े हो जाए।
  • अब अपनी बॉडी को पीछे की और ले जाए और ध्यान रखे की धीरे धीरे बॉडी को पीछे ले कर जाना है। आखिर में पीछे की तरफ लेट जाए।
  • पीछे लेटते समय अपने हाथों की कोहनियो का सहारा ले और लेटने के बाद वापस अपने दोनों घुटनो को पास में ले आए।
  • ध्यान रखे की इस दौरान गर्दन और शरीर सीधा हो।
  • अपने मुँह को ऊपर की ओर रखे और साथ ही अपने दोनों हाथों की उंगलियों को खोल कर अपनी छाती पर रखे।
  • इस पूरी क्रिया में आप अपनी साँस धीरे धीरे लें।
  • इस अवस्था में कम से कम 3 मिनट तक रहने की कोशिश करे।
इस लेख में हमने आपको बताया की आपको गले की समस्या होने पर कौन से योग आसन करना चाहिए।ऊपर दिए योग के अलावा आप उज्जायी प्राणायाम को भी कर सकते है। तो अगर आप भी किसी प्रकार की गले की समस्या से ग्रसित है तो आपको भी ऊपर इस लेख में दिए योग को करना चाहिए और अपने गले को स्वस्थ रखना चाहिए।