Yoga Poses for Nausea: मतली की समस्या से निजात दिलाएंगे ये योगासन

क्या आपके घर में किसी सदस्य को मतली की समस्या है? मतली की समस्या किसी भी समय दस्तक दे सकती है। लेकिन ज्यादातर लोगों को सफर के दौरान इसकी ज्यादा शिकायत रहती है|

यह जानना जरुरी है की यह क्या है और क्यों होती है। यह एक आम लक्षण है। जो कई रोगों और परिस्थितियों में हो सकता है। हमेशा मतली उल्टी होने से पहले होती हैI साधारण तौर पर इन्फ्लूएंजा से गैस्ट्रोएन्टेराइटिस तक के संक्रमण वाले लोगों को मतली होती है।

मतली के कुछ कारण है जैसे की फ़ूड पॉइजनिंग, दवाई का साइड इफेक्ट, गर्भधारण, ज्यादा मात्रा में शराब का सेवन और मोशन सिकनेस आदि। मतली के गंभीर लक्षणों में सीने में दर्द, सुस्ती, साँस लेने में कठिनाई, तेजी से पल्स का चलना और अत्यधिक पसीना आना शामिल है| वही बेहोशी, मुंह का सुखना, बुखार, पेट दर्द इसके सामान्य लक्षण है|

अधिकतर मामलो में मतली से अपने आप ही आराम मिल जाता है| यदि आराम नहीं मिलता है तो पीड़ित को तरल पदार्थ और लिक्विड डाइट पर रखा जाता है। इससे बचाव के लिए आप योग का सहारा ले सकते है। आइये जानते है Yoga Poses for Nausea जिससे आप इस समस्या से दूर रह सके|

Yoga Poses for Nausea: मतली से राहत पाने के लिए

Yoga Poses for Nausea

सुप्त वीरासन

  • यह आसन मतली के लिए बहुत ही लाभदायक आसन होता है।
  • इसे करने से तनाव से राहत मिलती है साथ ही इससे छोटी छोटी बिमारियों से लड़ने की शक्ति मिलती है।
  • यह आसन मोटापे को कम करने में सहायक होता है|
  • इसे करने से साँस संबंधी रोग दूर हो जाते है साथ ही यह एकाग्रता को भी बढ़ाता है|

बंध कोणासन

  • यह आसन पेट के अंगों को उत्तेजित करता है और सभी ब्लॉकों को निकालता है।
  • यह आपको मतली की भयावह समस्या को दूर करने में मदद करता है।
  • यह शरीर में रक्त संचार में सुधार लाता है जिससे की मतली की समस्या नहीं होती है।
  • बंध कोणासन चिंता और थकान को काम करता है और अन्य बीमारियों का भी खात्मा कर देता है|

डीप ब्रीथिंग

  • यह जरुरी नहीं की जब आपको मतली आये तभी आपको गहरी साँस लेना जरुरी होता है।
  • इसे करने से आपका मन शांत रहता है और यह विषाक्त पदार्थो को बाहर निकालता है।
  • जब भी आपको मतली की परेशानी हो, गहरी साँस लीजिये।
  • ऐसा करने से मतली दूर हो जाती है। और आप अच्छा महसूस करते है|
  • रोज डीप ब्रीथिंग व्यायाम करने से उत्तेजना, एलर्जी, अस्थमा, कैंसर, हृदय संबंधी बीमारियों, हाई ब्लड प्रेशर और अनिद्रा आदि में भी राहत मिलती है।

विपरीत करणी

  • इसे लेग्स अप दी वॉल पोज़ भी कहा जाता है| यह मुद्रा अत्यंत आरामदायक होती है।
  • इसे करने से मतली की समस्या कम हो जाती है यह मिनटों में तनाव और थकान दूर हो जाती है।
  • यह आसन असंतुलन को नियंत्रित करते हुए आपके शरीर को शांत करता है। इससे रक्त संचार सुचारु रूप से होता है।

उपरोक्त आसन आपको मतली की समस्या से निजात दिलाते है| इन आसनों का अभ्यास करने के अतिरिक्त पर्याप्त मात्रा में पानी भी पीते रहे|

You may also like...